देश की खबरें | भारतीय नौसेना अंडमान सागर में दो दिवसीय त्रिपक्षीय अभ्यास सिटमैक्स 2020 में ले रही है हिस्सा
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, 22 नवंबर भारतीय नौसेना सिंगापुर और थाईलैंड की नौसेनाओं के साथ अंडमान सागर में दो दिवसीय त्रिपक्षीय सिटमैक्स 2020 में हिस्सा ले रही है।

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि भारतीय नौसेना क स्वदेश निर्मित पनडुब्बी रोधी कोर्वेट (छोटा युद्धपोत) ‘कामोरता’ और मिसाइल कोर्वेट ‘करमुख’ पोत त्रिपक्षीय युद्धाभ्यास के दूसरे संस्करण में भाग ले रहे हैं। यह अभ्यास रविवार और सोमवार को होगा।

यह भी पढ़े | Bihar ITI CAT Admit Card 2020 To Be Released Today: बिहार आईटीआई कैट एडमिट का आज होगा रिलीज, आधिकारिक वेबसाइट bceceboard.bihar.gov.in.पर ऐसे करें चेक.

अधिकारियों ने बताया कि दो दिन के समुद्री अभ्यास के दौरान तीनों नौसेनाएं कई तरह के युद्धाभ्यास करेंगी जिनमें हथियारों से गोलियां चलाना और सतह युद्ध अभ्यास शामिल है।

उन्होंने बताया कि सिटमैक्स श्रृंखला का यह अभ्यास भारतीय नौसेना, रिपब्लिक ऑफ सिंगापुर नेवी (आरएसएन) और रॉयल थाई नेवी (आरटीएन) के बीच परस्पीर श्रेष्ठ सहयोग और अंतर संचालन क्षमता के विकास के लिए आयोजित किया गया है।

यह भी पढ़े | Punjab: राज्य में बढ़ते प्रदूषण के बीच किसानों ने खेत में जलाई पराली, कहा- हमारे पास कोई विकल्प नहीं है.

अधिकारियों ने बताया कि अभ्यास में आरएसएन की ओर से उसके ‘दुर्जेय’ श्रेणी के फ्रिगेट ‘इंटरपिड’ और ‘एन्ड्योलरेन्सू’ श्रेणी के टैंक लैंडिंग शिप ‘एन्डेआवर’ तथा आरटीएन की ओर से चाओ फ्राया श्रेणी का फ्रिगेट ‘काराबुरी’ भाग ले रहे हैं।

उन्होंने बताया कि यह अभ्यास कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बिना किसी संपर्क के, सिर्फ सागर में आयोजित किया जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि इसका लक्ष्य तीनों मित्र देशों में समन्वय, सहयोग और साझेदारी का विकास करना है।

भारतीय नौसेना द्वारा आयोजित सिटमैक्स का पहला संस्करण सितम्बर 2019 में पोर्ट ब्लेयर से कुछ दूर सागर में किया गया था। 2020 के इस अभ्यास का आयोजन आरएसएन ने किया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)