देश की खबरें | दिल्ली पुलिस ने नेकां नेता की हत्या की जांच के सिलसिले में एक और को गिरफ्तार किया

नयी दिल्ली, 15 सितंबर दिल्ली पुलिस ने नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के नेता त्रिलोचन वजीर की हत्या की जांच के सिलसिले में एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया है ।

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मंगलवार को जम्मू के बलवीर सिंह उर्फ बिल्ला को गिरफ्तार किया था और उसे राष्ट्रीय राजधानी लाया गया है। उससे पहले दिल्ली पुलिस ने कहा था कि उसने राजेंद्र चौधरी उर्फ राजू गंजा (35) को जम्मू से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने एक बयान में कहा कि दोनों को अदालत में पेश किया गया और अदालत ने उन्हें सात दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

पुलिस के मुताबिक सिंह (बिल्ला) ने शुरू में सात सालों तक जम्मू बागवानी विभाग में काम किया था। सिंह तीन सितंबर को आया था और उसके अगले दिन जम्मू लौट गया।

पुलिस का कहना है कि जब हत्या की गयी तब फ्लैट में चौधरी मौजूद था। वह मुंबई में कैब ड्राइवर है।

पुलिस के मुताबिक मोती नगर में वजीर का क्षतविक्षत शव दो सितंबर को एक फ्लैट के वाशरूम में मिला था। यह फ्लैट वजीर की जान-पहचान वाले व्यक्ति हरप्रीत सिंह ने किराये पर ले रखा था और हरप्रीत सिंह अमृतसर का रहने वाला है।

वजीर दो सितंबर को दिल्ली पहुंचे था और वह हरप्रीत सिंह एवं उसके दोस्त हरमीत सिंह के साथ बसईदारापुर के इस फ्लैट में ठहरे थे। हरप्रीत सिंह और हरमीत सिंह फरार हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच में सामने आया है कि 1983 में जम्मू में तिहरा हत्याकांड हुआ था और हरप्रीत के मामा कुलदीप उर्फ पप्पी की हत्या कर दी गयी थी। उस हत्याकांड में वजीर की गिरफ्तारी हुई थी और वह करीब साढे तीन साल जेल में रहे थे।

पुलिस ने बताया कि इस बात की जांच की जा रही है कि वजीर की हत्या का संबंध कहीं उस कांड से तो नहीं है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)