विदेश की खबरें | बाइडन के राष्ट्रपति पद की शपथ लेने से एक सप्ताह पहले वाशिंगटन डीसी में सुरक्षा बढ़ाई गई

निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के पिछले सप्ताह यूएस कैपिटल पर हमला करने के बाद संभावित खतरों को भांपते हुए वाशिंगटन के सभी प्रमुख व्यवसायिक केन्द्रों में सुरक्षा कड़ी की गई है। यहां कई ब्लॉक में अतिरिक्त बाड़ लगा दी गई।

बुधवार को सडक़ों से कार या स्कूटर भी गायब दिखे। कोई पर्यटक भी यहां नजर नहीं आया। बस सुबह की सैर पर निकले कुछ लोग और निर्माण कार्य में लगे मजदूर यहां नजर आएं।

वाशिंगटन में 20 जनवरी तक लॉकडाउन लगा है। व्हाइट हाउस से दो ब्लॉक दूर ‘नेशनल गार्ड’ के वर्दीधारी कर्मी एक बस से उतर कर एक होटल में जाते दिखे।

वाशिंगटन की मेयर मुरियल बाउजर ने कहा पिछले सप्ताह कैपिटल पर निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के ‘‘हिंसक विद्रोह’’ ने ‘‘ 59वें उद्घाटन समारोह के लिए हमारे संघीय साझेदारों के साथ हमारे काम करने के तरीके को प्रभावित किया है।’’

कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में पिछले सप्ताह हुई हिंसा के बाद एफबीआई ने आगाह किया है कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के कार्यभार संभालने के कुछ दिन पहले वाशिंगटन और सभी 50 राज्यों की राजधानियों में संसद भवनों पर ट्रंप समर्थकों के हथियारबंद प्रदर्शनों की योजना बनाई गई है।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने हार स्वीकार नहीं की है और वह लगातार तीन नवम्बर को हुए चुनाव में धोखाधड़ी के बेबुनियाद दावे करते रहे हैं। उनके इन दावों के बीच ही, कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में ट्रंप के समर्थकों ने धावा बोला था और हिंसा की थी, जिसमें कैपिटल पुलिस के एक अधिकारी तथा चार अन्य लोगों की मौत हो गई थी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)