जरुरी जानकारी | जिम्मेदार पर्यटन अभियान के लिये मध्यप्रदेश, केरल ने मिलाये हाथ

नयी दिल्ली, 13 जनवरी केरल के प्रसिद्ध जिम्मेदार पर्यटन (आरटी) अभियान को लागू करने के लिये मध्यप्रदेश ने एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में इसकी जानकारी दी गयी।

केरल सरकार की विज्ञप्ति में बताया गया कि मध्यप्रदेश ने जिम्मेदार पर्यटन अभियान को अपने यहां अमल में लाने के लिये उसके साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किये हैं। दोनों राज्यों ने इसके लिये एक संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किये। इसके तहत केरल 16 महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के तत्वाधान में कई सेवाओं का विस्तार करेगा।

विज्ञप्ति में कहा गया कि केरल के पर्यटन मंत्री कडकम्पल्ली सुरेंद्रन और मध्यप्रदेश की पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर की उपस्थिति में दोनों पक्षों ने समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये।

सुरेन्द्रन ने कहा कि जिम्मेदार पर्यटन ‘पर्यटन के सतत विकास’ का एकमात्र साधन है। यह समाज की आर्थिक भलाई की जिम्मेदारी लेता है। यह पर्यावरण संरक्षण के अलावा सामाजिक और सांस्कृतिक स्थिरता सुनिश्चित करता है। उन्होंने मध्य प्रदेश के साथ समझौते को केरल पर्यटन और इसके आरटी अभियान के लिये ‘एक और मील का पत्थर’ करार दिया।

उषा ठाकुर ने कहा, ‘‘यह देखकर बहुत खुशी हुई कि किस तरह से केरल की परम्परा, उसकी संस्कृति और विरासत का संरक्षण किया जा रहा है। केरल के आरटी मिशन की मदद से मध्य प्रदेश की खूबसूरती, जीवन और विरासत को विश्व के नक्शे पर प्रदर्शित किया जा सकेगा।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)