विदेश की खबरें | पोलैंड में लुप्तप्राय भारतीय गैंडे के शावक को जन्म दिया

चिड़िया घर के अधिकारियों ने बताया कि इस शावक का जन्म छह जनवरी को हुआ था। चिड़िया घर के 155 साल के इतिहास में पहली बार किसी गैंडे का जन्म हुआ है।

उसके माता-पिता सात वर्षीय मादा मरुस्का और 11 वर्षीय नर गैंडा मानस है।

भारतीय गैंडे विलुप्त होने के कगार पर थे लेकिन 1970 के दशक में शुरू किए गए संरक्षण कार्यक्रम की वजह से अब 3600 से ज्यादा गैंडे हैं। इनमें से 170 से अधिक दुनियाभर के 66 चिड़िया घरों में हैं।

भारतीय गैंडे 12.5 फुट तक लंबे होते हैं और उनका वजन तीन टन तक होता है।

वे उत्तरी भारत में आर्द्र और घास के मैदानों में रहते हैं।

एपी

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)