विदेश की खबरें | चीनी खिलाड़ियों पर आरोपों को लेकर अमेरिकी ड्रग नीति निर्देशक का डोपिंग रोधी एजेंसी को पत्र
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

वाशिंगटन, 15 मई (एपी) अमेरिका में मादक द्रव्य नियंत्रण नीति निर्देशक ने विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी के अधिकारियों को एक पत्र भेजा है, जिसमें कहा गया है कि दुनियाभर के नेता 2021 के तोक्यो ओलंपिक से पहले चीनी खिलाड़ियों पर डोपिंग के आरोपों की प्रतिक्रिया के बारे में "बहुत अधिक चिंतित" हैं।

विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी की कार्यकारी समिति में शामिल राहुल गुप्ता ने आठ मई को एक पत्र में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) के अध्यक्ष को कई सिफारिशें भेजीं। इसकी एक प्रति एसोसिएटेड प्रेस को मिली हैं। सिफारिशों में इस सप्ताह के अंत से पहले कार्यकारी समिति की आपात बैठक बुलाना भी शामिल है।

वाडा ने शुक्रवार को अपने संस्थापक बोर्ड का एक "असाधारण सत्र" आयोजित किया है। यह बोर्ड कार्यकारी समिति से भी बड़ा निकाय है और एजेंसी द्वारा बनाई गयी नीतियों पर निर्णय लेने का अंतिम अधिकार इसे ही है। इसमें कोई अमेरिकी सदस्य शामिल नहीं है।

राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति के अमेरिकी कार्यालय के प्रमुख गुप्ता का पत्र इन आरोपों के मद्देनजर आया है कि 23 चीनी तैराकों को अपना प्रदर्शन बढ़ाने वाली दवाएं लेने के बाद भी जानबूझकर क्लीन चिट दे दी गई।

निर्णय के बारे में आलोचना का जवाब देते हुए वाडा ने मामले की स्वतंत्र जांच के लिए स्विटजरलैंड के एक वकील को नियुक्त किया। इसकी भी आलोचना की गई है।

गुप्ता के पत्र में नियुक्ति की कुछ कथित खामियों को उजागर किया गया, जिसमें यह शिकायत भी शामिल है कि सरकारों का प्रतिनिधित्व करने वाले कार्यकारी समिति के सदस्यों को पूरी तरह से जानकारी नहीं दी गई और उन्होंने जांच शुरू करने वाले औपचारिक मतदान में भाग नहीं लिया।

गुप्ता ने मामले के विभिन्न पहलुओं पर पारदर्शिता और स्पष्टता बढ़ाने के लिए कहा।

गुप्ता का कार्यालय वाडा को अमेरिकी कोष जारी करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अमेरिका वाडा के 2024 के पांच करोड़ अमेरिकी डॉलर के बजट में 36 लाख अमेरिकी डॉलर का योगदान करने वाला है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)