पाकिस्तान सरकार को दिग्गज भारतीय कलाकारों के पुश्तैनी घरों को संरक्षित करना चाहिए: विशेषज्ञ
इमरान खान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री (Photo Credits: Twitter)

पेशावर, 11 जून: उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान में यहां के एक प्रमुख विरासत विशेषज्ञ के अनुसार विभाजन के समय पाकिस्तान छोड़ने वाले प्रसिद्ध भारतीय कलाकारों के सभी पुश्तैनी घरों को संरक्षित किया जाना चाहिए और पर्यटन स्थलों में परिवर्तित किया जाना चाहिए. खैबर पख्तूनख्वा प्रांतीय सरकार ने पिछले सप्ताह यहां प्रांतीय राजधानी में बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार और राज कपूर के पैतृक घरों की खरीद को मंजूरी दी थी. इस घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए, सांस्कृतिक विरासत परिषद, खैबर पख्तूनख्वा के सचिव, शकील वहीदुल्ला ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने यह सुनिश्चित करने के लिए 13 वर्षों तक संघर्ष किया कि इन सिल्वर स्क्रीन दिग्गजों के घरों को संरक्षित किया जाए. वहीदुल्ला ने कहा कि राष्ट्रीयता कोई मायने नहीं रखती और ऐसे घरों को पाकिस्तान में पर्यटकों के आकर्षण केन्द्रों के रूप में बदला जा सकता है.

राज कपूर का पैतृक घर, जिसे कपूर हवेली कहा जाता है, किस्सा ख्वानी बाजार में स्थित है. इसे 1918 और 1922 के बीच महान अभिनेता के दादा दीवान बशेश्वरनाथ कपूर ने बनवाया था. राज कपूर और उनके चाचा त्रिलोक कपूर का जन्म यहीं हुआ था. इसे प्रांतीय सरकार द्वारा राष्ट्रीय विरासत घोषित किया गया है. वयोवृद्ध अभिनेता दिलीप कुमार का 100 साल पुराना पुश्तैनी घर भी इसी इलाके में स्थित है. यह घर जर्जर अवस्था में है और 2014 में तत्कालीन नवाज शरीफ सरकार द्वारा इसे राष्ट्रीय विरासत घोषित किया गया था. प्रांतीय सरकार ने दो भवनों की खरीद के लिए 2.30 करोड़ रुपये जारी किए हैं.

यह भी पढ़ें- पाकिस्तानी हिंदू प्रवासियों का बाड़मेर, जैसलमेर में टीकाकरण आरंभ, जोधपुर को सरकारी मंजूरी का इंतजार

वहीदुल्लाह ने कहा कि पेशावर में कई और भारतीय सितारे हैं जिनके पेशावर में पैतृक घर हैं जिनमें शाहरुख खान, मधु बाला, सायरा बानो, विनोद खन्ना, अनिल कपूर, अमजद खान, मनोज कुमार और रणधीर कपूर प्रमुख हैं. उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक विरासत परिषद पर्यटन को बढ़ाव देने के लिए पेशावर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के वास्ते इन अभिनेताओं के उन परिवारों को आमंत्रित करेगी जो पाकिस्तान में रहते हैं.

उन्होंने कहा कि महान अभिनेत्री मधु बाला और अभिनेता शाहरुख खान के पिता के पुश्तैनी घरों को नवीनीकृत किया जाना चाहिए.

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)