देश की खबरें | गुजरात उपचुनाव: 102 नामांकन पत्र अब तक वैध पाए गए
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

अहमदाबाद,18 अक्टूबर गुजरात में विधानसभा की आठ सीटों के लिए तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव के लिये दाखिल किए गए नामांकन पत्रों में से 102 पर्चे वैध पाए गए हैं।

अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़े | Case Registered Against Kirori Singh Bainsla: महापंचायत के दौरान कोरोना के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप, गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला समेत 32 लोगों के खिलाफ केस दर्ज.

राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय से जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार कुल 135 नामांकन पत्र प्राप्त हुए थे, जिनमें से शनिवार को जांच के बाद 33 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र खारिज किए गए। उम्मीदवारों की सटीक संख्या की जानकारी नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तारीख 19 अक्टूबर के बाद पता चलेगी।

इसमें कहा गया कि अब तक मोरबी में 20, अबडासा में 19, लिंबडी में 14, गढ़दा में 13, धारी में 12, कर्जन में 11, डांग में नौ और कपराडा में चार उम्मीदवार हैं।

यह भी पढ़े | Bihar Assembly Elections 2020: कांग्रेस का सीएम नीतीश कुमार पर बड़ा हमला, चुनावी प्रचार गाने के जरिए कहा – बोले बिहार, बदलें सरकार.

भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों के अलावा, 75 निर्दलीय उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किया है और इनके अलावा बहुजन मुक्ति पार्टी, भारतीय जन परिषद, बहुजन महा पार्टी, युवा जन जागृति पार्टी, राष्ट्रवादी जन चेतना पार्टी आदि संगठनों ने अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है।

भाजपा के प्रद्युम्नसिंह जडेजा और कांग्रेस के शांतिलाल शेंधानी अबडासा से मुख्य उम्मीदवार हैं, भाजपा के किरीट सिंह राणा और कांग्रेस के चेतन खाचर के बीच लिंबडी में और मोरबी में भाजपा के ब्रजेश मेर्जा का मुकाबला कांग्रेस के जयंतीलाल पटेल से है।

भाजपा ने जयसुखभाई काकड़िया, आत्माराम परमार, अक्षय पटेल, विजय पटेल और जीतू चौधरी को धारी, गढ़दा (एससी), कर्जन, डांग (एसटी) और कपराडा (एसटी) से कांग्रेस के सुरेश कोटाडिया, मोहन सोलंकी, किरीट सिंह जडेजा, सूर्यकांत गावित और बाबूभाई पटेल के खिलाफ मैदान में उतारा है।

छोटूभाई वसावा की भारतीय ट्राइबल पार्टी ने कर्जन और डांग से महेंद्र वसावा और बाबूभाई गावित को मैदान में उतारा है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)