अरेंज्ड मैरिज से मना करने वाली बेटी की हत्या में माता-पिता को उम्रकैद
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: Image File)

इटली की एक कोर्ट ने एक पति-पत्नी को उम्र कैद की सजा सुनाई है. दोनों पर अपनी बेटी की हत्या करने का आरोप था.इटली की एक अदालत ने एक पति-पत्नी को ताउम्र जेल में रहने की सजा दी है. इस दंपति पर अपनी बेटी की हत्या करने का आरोप था जो उनकी मर्जी से शादी के लिए तैयार नहीं थी. खबरों के मुताबिक वह अपना घर छोड़कर सामाजिक सेवा अधिकारियों की पनाह में चली गई थी और वहीं रह रही थी. लेकिन एक रोज वह अपने कुछ दस्तावेज लेने घर आई उसके बाद से लापता हो गई.

18 साल की समन अब्बास अप्रैल 2021 में लापता हो गई थी. उसके लापता होने के कुछ ही दिन बाद उसके माता-पिता शब्बार अब्बास और नाजिया शाहीन देश छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे. नवंबर 2022 में समन का शव दूर-दराज एक खाली पड़े फार्महाउस में मिला था. यह फार्म हाउस उत्तरी इटली के उसी इलाके में था जहां समन के पिता एक खेत में काम किया करते थे.

चर्चित रहा है मामला

इस मामले ने इटली में काफी तूल पकड़ा था. हाल के सालों में महिलाओं की हत्या का यह सबसे चर्चित मामला रहा है. नवंबर 2022 में जब दांतों के रिकॉर्ड से समन के शव की पहचान की गई तो देश की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी ने भी इस मामले पर बयान दिया था.

मेलोनी ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर कहा था, "एक ऐसी मासूम लड़की को न्याय मिलना ही चाहिए जो सिर्फ अपनी मर्जी से जीना चाहती थी.”

इसी साल अगस्त में शब्बार अब्बास को पाकिस्तान से प्रत्यर्पित कर इटली लाया गया था. हालांकि कोर्ट में सुनवाई के दौरान अब्बास ने रोते हुए अपने आपको बेगुनाह बताया था.

कोर्ट में अब्बास ने कहा, "यह मुकदमा खत्म नहीं हुआ है. मैं भी जानना चाहता हूं कि मेरी बेटी का किसने कत्ल किया.”

माना जाता है कि शब्बार की पत्नी नाजिया शाहीन अभी भी पाकिस्तान में है. उसकी गैरमौजूदगी में ही मुकदमा चलाया गया.

इटली में कथित ऑनर किलिंग के कई मामले सामने आ चुके हैं और पुलिस ने इस मामले की जांच भी उसी तरह की थी. समन अब्बास के शव के पोस्टमॉर्टम में पता चला कि उसकी गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी. इससे अनुमान लगाया गया कि उसकी हत्या गला घोंट कर की गई.

नाराज थे माता-पिता

समन अब्बास किशोरावस्था में थी जब अपने माता-पिता के साथ वह पाकिस्तान से इटली आ गई थी. उसका परिवार उत्तरी इटली के नोवेलारा कस्बे में बस गया. सरकारी वकीलों ने सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया कि समन जल्द ही पश्चिमी चाल-ढाल में ढल गई और उसने अपनी पसंद के एक लड़के के साथ रिश्ता कायम कर लिया.

सबूतों के तौर पर दिखाई गई एक सोशल मीडिया पोस्ट में समन की एक तस्वीर थी, जिसमें उसे बोलोन्या की एक गली में अपने बॉयफ्रेंड को किस करते देखा जा सकता है. अधिकारियों के मुताबिक इस तस्वीर को देखकर समन के माता-पिता बेहद नाराज हुए थे क्योंकि वे चाहते थे कि वह पाकिस्तान में अपने रिश्तेदारी के एक लड़के से शादी करे.

अधिकारियों के मुताबिक समन ने अपने बॉयफ्रेंड को बताया था कि उसे अपनी जान को खतरा लग रहा है क्योंकि वह माता-पिता की मर्जी से एक बड़ी उम्र के शख्स से शादी करने से इनकार कर रही है. बाद में वह लापता हो गई.

इस मामले में कोर्ट ने समन के चाचा दानिश हस्नैन को भी 14 साल की सजा सुनाई है. उसके दो चचेरे भाइयों को भी आरोपी बनाया गया था लेकिन अदालत ने उन्हें निर्दोष पाया और रिहा कर दिया.

यूरोप में ऑनर किलिंग

यूरोप में रहने वाले एशियाई परिवारोंमें ऑनर किलिंग के कई मामले सामने आ चुके हैं. 2015 में यूरोपीय संसद द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया था कि महाद्वीप में एक दशक में ऑनर किलिंग के मामलों में काफी वृद्धि हुई है.

इस रिपोर्ट में कहा गया कि हालांकि ऑनर किलिंग के अधिकतर मामले मध्य-पूर्व और दक्षिण एशिया में होते हैं लेकिन यूरोपीय संघ में भी इनकी संख्या तेजी से बढ़ी है और ऐसे अधिकतर मामलों की जानकारी सामने भी नहीं आ पाती. रिपोर्ट में कहा गया, "उदाहरण के लिए कुछ सूत्र दावा करते हैं कि नीदरलैंड्स में जिन आपराधिक मामलों की रिपोर्ट नहीं होती, उनकी संख्या 25 फीसदी है लेकिन ऑनर किलिंग के मामलों की संख्या 75 फीसदी है.”

इस रिपोर्ट में कहा गया कि ब्रिटेन में यह समस्या सबसे बड़ी है. तब ब्रिटेन यूरोपीय संघ का सदस्य था. रिपोर्ट के मुताबिक वहां तब हर साल करीब इज्जत के नाम पर लड़कियों के साथ हिंसा के 3,000 मामले थे जबकि हत्यों की संख्या 12 से भी ज्यादा थी. इसके अलावा फ्रांस, स्वीडन, जर्मनी, नीदरलैंड्स और इटली में भी ऑनर किलिंग के कई मामले सामने आ चुके हैं.

रिपोर्टः विवेक कुमार (रॉयटर्स)