देश की खबरें | मीडिया समूहों के खिलाफ छापेमारी संविधान और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला: कांग्रेस

नयी दिल्ली, 22 जुलाई कांग्रेस ने मीडिया समूह ‘दैनिक भास्कर’ और उत्तर प्रदेश के एक टेलीविजन चैनल के खिलाफ आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि देश के गुस्से से आपा खो रही सरकार संविधान एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला कर रही है।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘ कितना और गला घोटेंगे मीडिया का ? कितनी और दबिश मानेगा मीडिया ? कब तक सच पर सत्ता की बेड़ियाँ रहेंगी ? आज यह देख अथाह दुःख हुआ कि टीवी के साथी आज भी दैनिक भास्कर-भारत समाचार पर “रेड राज” के ख़िलाफ़ डिबेट नहीं करवा रहे ? अब भी नहीं तो कब ?’’

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनुसिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘देश को गुस्से में देखकर मोदी जी खो रहे हैं आपा, कहीं करवा रहे रहे हैं जासूसी और कहीं मरवा रहें हैं छापा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी एक अखबार की बात नहीं कर रहे हैं। हम निष्पक्षता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मुद्दा उठा रहे हैं। इस अखबार ने कोरोना महामारी के समय पहले पृष्ठ पर खबरें प्रकाशित कीं। इस अखबार (दैनिक भास्कर) ने प्रकाशित की थी कि गंगा नदी में लाशें तैर रही हैं और बड़ी संख्या में शव जलाए जा रहे हैं।’’

सिंघवी के मुताबिक, ‘‘उत्तर प्रदेश में भी एक चैनल ‘भारत समाचार’ के खिलाफ छापेमारी की गई। इसी तरह वेबसाइट ‘न्यूज क्लिक’ के संपादकों के यहां कई बार छापेमारी की गई। कई दूसरे मीडिया संगठनों के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई की गई है।’’

उन्होंने सवाल किया, ‘‘सरकार बताए कि आयकर के छापे सुनियोजित हैं या महज संयोग हैं? देश को चुप कराने के लिए संस्थानों का दुरुपयोग क्यों किया जा रहा है?

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘यह कदम भर्त्सना योग्य है। यह हमारी संस्कृति और संविधान के खिलाफ है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला है। यह बौखलाई और घबराई सरकार का कदम है।’’

गौरतलब है कि आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोपों में दो प्रमुख मीडिया समूहों - ‘दैनिक भास्कर’ और उत्तर प्रदेश के हिंदी समाचार चैनल ‘भारत समाचार’ के विभिन्न शहरों में स्थित परिसरों पर बृहस्पतिवार को छापे मारे।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दैनिक भास्कर के मामले में छापेमारी भोपाल, जयपुर, अहमदाबाद और कुछ अन्य स्थानों पर की जा रही है।

उन्होंने बताया कि टीवी समाचार चैनल भारत समाचार समूह और उसके प्रवर्तकों एवं कर्मचारियों के लखनऊ स्थित परिसरों पर इसी तरह से छापेमारी की गई।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)