Close
Search

देश की खबरें | मोदी सरकार ने शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आंसू गैस से 'हमला' किया: किसान नेता पंधेर का आरोप

Get Latest हिन्दी समाचार, Breaking News on India at LatestLY हिन्दी. किसान नेताओं ने मंगलवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए दावा किया कि उसने दिल्ली की ओर कूच कर रहे प्रदर्शनकारियों पर अंबाला के पास आंसू गैस के गोले छोड़कर ''हमला'' किया, जिसमें 60 लोग घायल हो गए।

Close
Search

देश की खबरें | मोदी सरकार ने शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आंसू गैस से 'हमला' किया: किसान नेता पंधेर का आरोप

Get Latest हिन्दी समाचार, Breaking News on India at LatestLY हिन्दी. किसान नेताओं ने मंगलवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए दावा किया कि उसने दिल्ली की ओर कूच कर रहे प्रदर्शनकारियों पर अंबाला के पास आंसू गैस के गोले छोड़कर ''हमला'' किया, जिसमें 60 लोग घायल हो गए।

एजेंसी न्यूज Bhasha|
देश की खबरें | मोदी सरकार ने शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आंसू गैस से 'हमला' किया: किसान नेता पंधेर का आरोप

चंडीगढ़, 13 फरवरी किसान नेताओं ने मंगलवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए दावा किया कि उसने दिल्ली की ओर कूच कर रहे प्रदर्शनकारियों पर अंबाला के पास आंसू गैस के गोले छोड़कर ''हमला'' किया, जिसमें 60 लोग घायल हो गए।

पंजाब के किसानों को दो सीमा बिंदुओं पर आंसू गैस के गोले का सामना करना पड़ा, जिनमें से कुछ ड्रोन द्वारा गिराए गए। यह तब हुआ जब किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी की ओर जाने की कोशिश के दौरान हरियाणा पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधकों को तोड़ने का प्रयास किया।

शंभू बॉर्डर पर किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारत के इतिहास में आज का दिन काला दिन है। जिस तरह से मोदी सरकार ने किसानों और खेतिहर मजदूरों पर हमला किया, वह शर्मनाक है।’’

पंधेर ने कहा, ''आज भी हम कहते हैं कि हम देश के किसान और मजदूर हैं तथा हम कोई लड़ाई नहीं चाहते।''

उन्होंने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और कर्ज माफी की कानूनी गारंटी की किसानों की मांग दोहराई।

पंधेर ने कहा कि जब किसी ने उनकी बात नहीं सुनी तो किसानों को सड़कों पर उतरने और दिल्ली तक मार्च करने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने दावा किया कि उनका आंदोलन शांतिपूर्ण रहा है।

किसान नेता ने कहा, "अभी शाम हो गई है। हम अपने युवाओं से कहेंगे कि दोनों तरफ से संघर्ष रुकना चाहिए। कल हम फिर देखेंगे।"

अन्य किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने दावा किया कि पुलिस कार्रवाई में लगभग 60 युवा किसान घायल हो गए।

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर राजनीतिक) का प्रतिनिधित्व करने वाले डल्लेवाल ने कहा कि केंद्र किसानों की मांगों के प्रति कोई गंभीरता नहीं दिखा रहा।

उन्होंने कहा, "हम अपने विचार रखना चाहते हैं। कोई नयी मांग नहीं है और ये सरकार द्वारा की गई प्रतिबद्धताएं हैं।"

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के इस बयान का जिक्र करते हुए कि सोमवार को बैठक के दौरान अधिकतर मांगों पर सहमति बन गई थी, डल्लेवाल ने कहा कि एक भी मांग स्वीकार नहीं की गई।

अन्य किसान नेता सुरजीत सिंह फूल ने दावा किया कि हरियाणा के सुरक्षाकर्मियों ने आठ घंटे से अधिक समय तक प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के "हजारों" गोले फेंके।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)

देश की खबरें | मोदी सरकार ने शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आंसू गैस से 'हमला' किया: किसान नेता पंधेर का आरोप

चंडीगढ़, 13 फरवरी किसान नेताओं ने मंगलवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए दावा किया कि उसने दिल्ली की ओर कूच कर रहे प्रदर्शनकारियों पर अंबाला के पास आंसू गैस के गोले छोड़कर ''हमला'' किया, जिसमें 60 लोग घायल हो गए।

पंजाब के किसानों को दो सीमा बिंदुओं पर आंसू गैस के गोले का सामना करना पड़ा, जिनमें से कुछ ड्रोन द्वारा गिराए गए। यह तब हुआ जब किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी की ओर जाने की कोशिश के दौरान हरियाणा पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधकों को तोड़ने का प्रयास किया।

शंभू बॉर्डर पर किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारत के इतिहास में आज का दिन काला दिन है। जिस तरह से मोदी सरकार ने किसानों और खेतिहर मजदूरों पर हमला किया, वह शर्मनाक है।’’

पंधेर ने कहा, ''आज भी हम कहते हैं कि हम देश के किसान और मजदूर हैं तथा हम कोई लड़ाई नहीं चाहते।''

उन्होंने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और कर्ज माफी की कानूनी गारंटी की किसानों की मांग दोहराई।

पंधेर ने कहा कि जब किसी ने उनकी बात नहीं सुनी तो किसानों को सड़कों पर उतरने और दिल्ली तक मार्च करने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने दावा किया कि उनका आंदोलन शांतिपूर्ण रहा है।

किसान नेता ने कहा, "अभी शाम हो गई है। हम अपने युवाओं से कहेंगे कि दोनों तरफ से संघर्ष रुकना चाहिए। कल हम फिर देखेंगे।"

अन्य किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने दावा किया कि पुलिस कार्रवाई में लगभग 60 युवा किसान घायल हो गए।

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर राजनीतिक) का प्रतिनिधित्व करने वाले डल्लेवाल ने कहा कि केंद्र किसानों की मांगों के प्रति कोई गंभीरता नहीं दिखा रहा।

उन्होंने कहा, "हम अपने विचार रखना चाहते हैं। कोई नयी मांग नहीं है और ये सरकार द्वारा की गई प्रतिबद्धताएं हैं।"

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के इस बयान का जिक्र करते हुए कि सोमवार को बैठक के दौरान अधिकतर मांगों पर सहमति बन गई थी, डल्लेवाल ने कहा कि एक भी मांग स्वीकार नहीं की गई।

अन्य किसान नेता सुरजीत सिंह फूल ने दावा किया कि हरियाणा के सुरक्षाकर्मियों ने आठ घंटे से अधिक समय तक प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के "हजारों" गोले फेंके।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)

शहर पेट्रोल डीज़ल
New Delhi 96.72 89.62
Kolkata 106.03 92.76
Mumbai 106.31 94.27
Chennai 102.74 94.33
View all
Currency Price Change
Google News Telegram Bot