देश की खबरें | सीएपीएफ के खिलाफ ममता का गुस्सा टीएमसी की ‘आसन्न हार’ का सबूत : शाह

कोलकाता, नौ अप्रैल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि केंद्रीय बलों के खिलाफ उनका गुस्सा विधानसभा चुनावों में ‘‘आसन्न हार’’ को लेकर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की निराशा का सबूत है।

उन्होंने भरोसा जताया कि पहले तीन चरणों के चुनाव में जहां भी मतदान हुआ है उनमें से भाजपा 36 से 68 सीटों पर जीत जाएगी। राज्य की 294 विधानसभा सीटों में से 91 पर तीन चरणों में मतदान हो चुका है।

शाह ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैंने किसी मुख्यमंत्री या राजनीतिक दल के अध्यक्ष को ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करते कभी नहीं देखा जैसा कि ममता बनर्जी केंद्रीय बलों के खिलाफ कर रही हैं। क्या वह अराजकता पैदा करने की कोशिश कर रही हैं? क्या वह अव्यवस्था की स्थिति पैदा करना चाहती हैं?’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं चाहता हूं कि वह थोड़ी समझदारी दिखाएं। उन्हें पता होना चाहिए कि केंद्रीय बल चुनावों के दौरान गृह मंत्रालय के अधीन काम नहीं करते। उनकी कमान निर्वाचन आयोग के पास होती है।’’

शाह टीएमसी सुप्रीमो के उस दावे पर जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि सीएपीएफ जवान शाह और गृह मंत्रालय के कहने पर मतदाताओं को प्रताड़ित कर रहे हैं तथा डरा-धमका रहे हैं और उन्हें भाजपा के लिए वोट डालने को कह रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बनर्जी की, अल्पसंख्यक वोटों के बंटवारे को रोकने के लिए की गई एकता की अपील यह दिखाती है कि अल्पसंख्यक मतदाता टीएमसी से दूर जा रहे हैं।

शाह ने कहा कि बंगाल के लोग ममता बनर्जी के घुसपैठ रोकने में नाकाम रहने, सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने और तुष्टीकरण की राजनीति से नाराज हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)