जरुरी जानकारी | भारत से चीन को निर्यात 2020 में 16.15 प्रतिशत बढ़ा

नयी दिल्ली, 23 फरवरी भारत से चीन को होने वाला निर्यात 2020 में 16.15 प्रतिशत बढ़कर 20.87 अरब डालर पर पहुंच गया। एक साल पहले यह आंकड़ा 17.9 अरब डालर था। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।

इस दौरान चीन को लोहा एवं इस्पात, एल्यूमीनियम और तांबा, अयस्क के निर्यात में अच्छी वृद्धि दर्ज की गई।

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा ीाी 19.39 प्रतिशत कम हुआ है। वर्ष 2019 में जहां व्यापार घाटा 56.95 अरब डालर पर था वहीं यह 2020 में कम होकर 45.91 अरब डालर रह गया। क्योंकि 2020 में चीन से भारत का आयात 10.87 प्रतिशत घटकर 66.78 अरब डालर रह गया। इससे पिछले साल चीन से भारत का आयात 74.92 अरब डालर हुआ था।

आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2020 में भारत और चीन के बीच द्विपक्षीय व्यापार भी 5.64 प्रतिशत घटकर 87.65 अरब डालर रह गया। इससे पिछले वर्ष यह आंकड़ा 92.89 अरब डालर पर था।

कृषि क्षेत्र में चीनी, सोयाबीन तेल और वनस्पति वसा और तेलों के निर्यात में अच्छी वृद्धि दर्ज की गई। वहीं इस दौरान आम, मछली का तेल, चाय और ताजा अंगूरों का निर्यात कम हुआ है।

भारतीय निर्यातक संघों के महासंघ (फियो) के अध्यक्ष एस के सराफ ने इन आंकड़ों पर अपनी टिप्पणी में कहा कि यह सकारात्मक संकेत है। इन आंकड़ों से घरेलू उद्योग की बढ़ती प्रतिस्पर्धात्मक क्षमता का पता चलता है।

वहीं चीन से आयात होने वाले सामानों में बिजली की मशीनरी और उपकरण, बायलर्स, मशीनरी और मैकेनिकल उपकरण, प्लास्टिक और संबंधित सामान, लोहा एवं इस्पात की वस्तुऐं, फर्नीचर, उर्वरक, वाहनों के कलपुर्जे और अन्य सामान, खिलौने और खेलकूद का सामान, सिरामिक उत्पाद और रसायन आदि शामिल हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)