पश्चिम बंगाल उपचुनावों में बीजेपी को करारी हार मिली है. करीमपुर, खड़गपुर सदर और कलियागंज सीटों पर तृणमूल कांग्रेस को जीत हासिल हुई है. टीएमसी प्रत्याशी तपन देब ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और बीजेपी उम्मीदवार कमल चंद्र सरकार को कलियागंज सीट पर करीब ढाई हजार वोटों के अंतर से हरा दिया. वहीं, टीएमसी उम्मीदवार प्रदीप सरकार ने खड़गपुर सदर सीट पर जीत हासिल की. उन्होंने बीजेपी के प्रेम चंद्र झा को 20 हजार से अधिक वोटों के अंतर से हराया. इस बीच, तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने ट्वीट कर बताया कि करीमपुर सीट पर टीएमसी को 24,119 वोटों से जीत हासिल हुई है! बता दें कि इस सीट पर बिमलेंदु सिन्हा रॉय तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.

पश्चिम बंगाल के खड़गपुर सदर सीट भी तृणमूल कांग्रेस के खाते में गई. यहां से टीएमसी उम्मीदवार प्रदीप सरकार ने जीत हासिल की. इससे पहले कलियागंज सीट पर टीएमसी उम्मीदवार तपन देब सिंह की जीत हुई. वहीं, करीमपुर सीट पर भी टीएमसी आगे चल रही है.

पश्चिम बंगाल के उपचुनाव में 1 टीएमसी उम्मीदवार के जीतने और 2 उम्मीदवारों के आगे रहने पर पर ममता बनर्जी ने कहा- यह लोगों की जीत है. यह विकास की जीत है. अहंकार की राजनीति नहीं चलेगी. लोगों ने बीजेपी को नकार दिया है.

पश्चिम बंगाल के कलियागंज सीट पर तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार तपन देब सिंह की जीत हुई है. वहीं, खड़गपुर सदर और करीमपुर सीट पर भी टीएमसी आगे चल रही है.

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस 2 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं, बीजेपी को भी एक सीट पर बढ़त हासिल है. टीएमसी खड़गपुर सदर और करीमपुर सीट पर आगे चल रही है. वहीं, बीजेपी को कलियागंज सीट पर बढ़त हासिल है. 

पश्चिम बंगाल में विधानसभा की तीन सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना चल रही है और पहले दौर की मतगणना में करीमपुर विधानसभा सीट से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस, कलियागंज में बीजेपी और खड़गपुर सदर से कांग्रेस आगे चल रही है.

तीसरे राउंड की मतगणना के बाद पश्चिम बंगाल के खड़गपुर सदर और कालीगंज में बीजेपी उम्मीदवारों को बढ़त. खड़गपुर सदर सीट पर बीजेपी 2122 वोटों से आगे चल रही है. 

पश्चिम बंगाल के विधानसभा की तीन सीटों- खड़गपुर सदर, कालियागंज और करीमपुर के लिए हुए उपचुनाव में 18 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होना है.

पश्चिम बंगाल में तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है. कुछ देर में रुझान आने शुरू होंगे. पश्चिम बंगाल के करीमपुर , खड़गपुर सदर और कालीगंज  विधानसभा क्षेत्रों में 25 नवबंर (सोमवार) को वोट डाले गए थे.

West Bengal By-Elections Results 2019: पश्चिम बंगाल में तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती आज हो रही है. मतगणना (Counting of Votes) सुबह आठ बजे शुरू हुई. पश्चिम बंगाल के करीमपुर (Karimpur), खड़गपुर सदर और कालीगंज (Kaliaganj) विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए 25 नवबंर (सोमवार) को वोट डाले गए थे. इस उपचुनाव में सात लाख से अधिक मतदाताओं में से 75.34 फीसदी ने वोट डाला था. हालांकि, बाद में चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया था, ‘शाम पांच बजे तक मतदान प्रतिशत 75.34 फीसदी रहा. शाम छह बजे के बाद भी मतदान केंद्रों के बाहर कतारें लगी हुई थीं. इसलिए जब हम सभी आंकड़ों को एक साथ मिलाएंगे तो मत-प्रतिशत बढ़ सकता है.’

दरअसल, महुआ मोइत्रा के कृष्णानगर लोकसभा सीट से चुनाव जीतने के बाद करीमपुर सीट खाली हो गई थी. खड़गपुर सदर के विधायक के भी इस साल लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद यह सीट रिक्त हुई थी जबकि कालीगंज के कांग्रेस विधायक प्रमथनाथ रे के निधन के बाद यहां उपचुनाव कराना जरूरी हो गया था.

मतदान के दिन बीजेपी के वरिष्ठ नेता और करीमपुर विधानसभा उपचुनाव में पार्टी के उम्मीदवार जयप्रकाश मजूमदार के साथ नदिया जिले के फीपुलखोला इलाके में सोमवार को मतदान केन्द्र में दाखिल होते समय तृणमूल कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर मारपीट की. टीवी फुटेज में कुछ लोग मजूमदार से मारपीट करते दिखाई दे रहे हैं. उन्होंने तृणमूल के कथित ‘गुंडों’ को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि जख्म भर जाएंगे लेकिन यह घटना ‘पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र के अंत’ का ‘स्पष्ट’ संकेत है. बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि तृणमूल कार्यकर्ता फर्जी मतदाता थे जो मतदान को बाधित करने के इरादे से वहां इकट्ठे हुए थे.