विदेश की खबरें | फ्रांस की द रिपब्लिकन पार्टी राष्ट्रपति उम्मीदवार का चयन करेगी

पेरिस क्षेत्र की प्रमुख, वैलेरी पेक्रेसे और नाइस के एक कट्टर सांसद एरिक सिओटी द रिपब्लिकन्स प्राइमरी के अंतिम दौर में प्रतिस्पर्धा में हैं।

द रिपब्लिकन के करीब एक लाख 40 हजार सदस्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के जिरये मतादन में हिस्सा ले रहे हैं । इसका परिणाम शनिवार को देर से आने की संभावना है ।

पेक्रेसे(54) एक पूर्व मंत्री हैं और पूर्व रूढिवादी राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी (2007-12) के शासन के दौरान सरकार की प्रवक्ता रह चुकी हैं ।

अगर वह पार्टी सदस्यों द्वारा और बाद में फ्रांस के मतदाताओं द्वारा निर्वाचित हो जाती हैं तो उन्होंने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की केंद्रीयकृत नीतियों को ‘खत्म’ का वादा लिया है।

मैक्रों के दूसरे कार्यकाल के लिये भी चुनाव लड़ने की संभावना है हालांकि उन्होंने अब तक अपनी उम्मीदवारी की घोषणा नहीं की है ।

पेक्रेसे ने कहा कि राष्ट्रपति बनने के बाद उनका पहला कदम फ्रांस में 35 घंटे के कार्य सप्ताह को समाप्त करना होगा, ताकि कर्मचारी अधिक काम करें और कमायें ।

यूरोपीय यूनियन की समर्थक पेक्रेसे ने 2019 में द रिपब्लिकन छोड़ दिया था और इस साल दोबारा पार्टी में शामिल हो गयी, जिसके बाद वह प्राइमरी में शामिल हुयी है ।

सिओटी (56) को पार्टी के दक्षिणपंथी हिस्से के रूप में जाना जाता है । वह चाहते हैं कि फ्रांस की ईसाई जड़ों को संविधान से जोड़ा जाए और मुस्लिम लड़कियों के बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगाया जाए।

वह ‘फ्रेंच गुआंतानामो’ स्थापित करना चाहते हैं जहां आतंकवाद संबंधी मामलों में दोषी करार दिये गये लोगों को कैद करके रखा जाये ।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)