देश की खबरें | गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में आरोपी सिधाना बठिंडा में एक जनसभा में दिखा

बठिंडा, 23 फरवरी गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के मामले में आरोपी लक्खा सिधान बठिंडा में एक जनसभा में केन्द्र के नए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का समर्थन करता नजर आया।

एक वीडिया में वह मंच पर बैठा दिख रहा है।

अपराध सरगना से कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना ने पिछले सप्ताह सोशल मीडिया पर एक वीडियो में लोगों से बठिंडा के मेहराज गांव में एक जनसभा में शामिल होने की अपील की थी।

सिधाना के जनसभा में शामिल होने को लेकर काफी अटकलें थीं, क्योंकि वह 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा वांछित है।

केन्द्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किये जाने की मांग को लेकर 26 जनवरी को किसान संघों द्वारा आयोजित ट्रैक्टर परेड के दौरान हजारों प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए थे। कई प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लालकिले तक पहुंच गए थे और इस ऐतिहासिक स्मारक में घुस गए। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने लाल किले के ध्वजस्तंभ पर एक धार्मिक झंडा भी फहराया था।

सिधाना एक अपराध सरगना था और उस पर पंजाब में अनेक मामले दर्ज हैं। कई बार वह जेल भी गया। 2012 में उसने राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ा था, जिसमें उसे हार का सामना पड़ा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)