India-EU Summit 2020: पीएम मोदी ने कहा- भारत और EU हैं नेचुरल पार्टनर, यह साझेदारी विश्व की शांति और स्थिरता के लिए बेहद महत्वपूर्ण
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को भारत-ईयू शिखर सम्मेलन (India-EU Summit) को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मार्च में कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से हमें भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) की बैठक को स्थगित करना पड़ा था. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ईयू और भारत दोनों ही नेचुरल पार्टनर है. हमारी साझेदारी विश्व की शांति और स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है. यह वास्तविकता आज वैश्विक स्थिति में और भी स्पष्ट हो गई है.'

पीएम ने इस दौरान प्रासंगिक बने रहने पर हुनर के विकास पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि नए हुनर को सीखने का एक भी मौका नहीं गंवाना चाहिए. यही हुनर देश को आत्मनिर्भर बनाने में ताकत की तरह सहयोग करेगा. बता दें कि आज से पांच साल पहले प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की शुरुआत की गई थी. यह भी पढ़ें: World Youth Skill Day 2020: वर्ल्ड यूथ स्किल डे के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी बोले-कोरोना संकट ने नेचर ऑफ जॉब को बदल दिया. 

पीएम मोदी ने कहा, कोरोना के इस संकट ने World- Culture के साथ ही Nature of Job को भी बदलकर के रख दिया है. बदलती हुई नित्य नूतन Technology ने भी उस पर प्रभाव पैदा किया है. पीएम मोदी ने कहा तेजी से बदलती हुई आज की दुनिया में अनेक सेक्टरों में लाखों skilled लोगों की जरूरत है. विशेषकर स्वास्थ्य सेवाओं में तो बहुत बड़ी संभावनाएं बन रही हैं. यही समझते हुए अब कौशल विकास मंत्रालय ने दुनिया भर में बन रहे इन अवसरों की मैपिंग शुरू की है.

पीएम मोदी ने कहा, तत्कालीन चुनौतियों के अलावा जलवायु परिवर्तन जैसे दीर्घकालिक चुनौतियां भी हम दोनों के लिए ही प्राथमिकता हैं. भारत में नवीकरणीय ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाने के हमारे प्रयत्नों में हम यूरोप के निवेश और प्रौद्योगिकी को आमंत्रित करते हैं.

पीएम ने कहा, - आज हमारे नागरिकों की सेहत और समृद्धि, दोनों ही चुनौतियों का सामना कर रहें हैं. ऐसे में भारत-ईयू पार्टनरशिप आर्थिक पुनर्निर्माण में और एक मानव-केंद्रित और मानवता-केंद्रित ग्लोबलाइजेशन के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है. पीएम मोदी ने कहा, मैं चाहूंगा कि आप सभी स्वस्थ रहिए, दो गज की दूरी का पालन करें, मास्क पहनना न भूलें, थूकने की आदत सबको छोड़ने के लिए समझाते रहिए.