देश की खबरें | मुख्यमंत्री पद बरकरार रखने के लिए दर-दर भटक रहे योगी : अखिलेश यादव

लखनऊ, 11 जून उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की दो दिवसीय नयी दिल्‍ली यात्रा के संदर्भ में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि यह देश के सबसे बड़े राज्य (उप्र) के सूबेदार (मुख्यमंत्री) के लिए दुर्दिन का वक्त है कि अपना पद बरकरार रखने के लिए उनको दर-दर भटकना पड़ रहा है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शुक्रवार को अपने ट्वीट में उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का नाम लिए बिना उनके दिल्ली दौरे पर तंज कसते हुए कहा '' पद-भिक्षा' की खातिर, देश के सबसे बड़े सूबे के सूबेदार, दुर्दिन ऐसे आए, दर-दर भटक रहे हैं वो दिल्‍ली के दरबार।''

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इससे पहले शुक्रवार को दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी। बृहस्पतिवार को योगी ने गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी।

योगी की यह दिल्ली यात्रा भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष और उपाध्यक्ष व उत्‍तर प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह की पिछले दिनों लखनऊ में समीक्षा बैठक होने के बाद हुई, जिसके बाद यह अटकलें लगाई जाने लगीं कि जल्द ही उत्तर प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार होगा।

इसके पहले अखिलेश यादव ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर निशाना साधते हुए एक अन्य ट्वीट में कहा,‘‘इधर बेकारी-बेरोज़गारी रिकार्ड तोड़ रही है, उधर महंगाई कमर तोड़ रही है। न मनरेगा में काम है, न स्किल मैपिंग का कहीं अता-पता है और न ही इंवेस्टमेंट मीट के निवेश का। व्यापार, कारोबार, दुकानदारी, कारीगरी सब ठप है। बंदरबाँट में उलझी भाजपा सरकार से जनता को कोई उम्मीद भी नहीं है।’’

समाजवादी पार्टी द्वारा शुक्रवार को जारी बयान में अखिलेश ने आरोप लगाया, ‘‘कोरोना संक्रमण, जानलेवा ब्‍लैक फंगस के महंगे इलाज में सरकार की लापरवाही, जीवन रक्षक दवाइयों के अकाल और ठप विकास कार्यों के साथ हर मोर्चे पर विफल भाजपा सरकार में गरीबों, किसानों, नौजवानों और समाज के शोषित वंचित तथा पिछड़े वर्गो के हितों पर कुठाराघात ही होता रहा है।'

उन्‍होंने कहा, ‘'समय से प्रभावी कदम नहीं उठाने, स्थितियों के सही आकलन में विफलता और गलत प्रबंधन के चलते उत्तर प्रदेश के भाजपा राज में आंकड़े बताते हैं कि आबादी के हिसाब से टीकाकरण में उत्तर प्रदेश पिछड़ा हुआ है।’’ यादव ने राज्‍य सरकार पर आंकड़ों में हेराफेरी का भी आरोप लगाया।

सपा प्रमुख ने नीति आयोग के रिकॉर्ड के हवाले से कहा कि उत्तर प्रदेश को सबसे फिसड्डी राज्य का दर्जा मिला हुआ है तथा भुखमरी, गरीबी, भेदभाव और इंडस्ट्री तथ इंफ्रास्ट्रक्चर आदि सूचकांक रैंकिंग में राज्य बदहाल है।

यादव ने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र झूठ का पुलिंदा साबित हुआ है और उनका वादा खिलाफी का रिकॉर्ड भी जनता के सामने है, जनता ही उनको वादे याद दिलाएगी और वादा नहीं निभाने की सजा भी देगी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)