देश की खबरें | विश्व स्वास्थ्य दिवस : भारत और वैश्विक समुदाय कोविड से लड़ने में हाथ मिलाकर आगे बढे: हर्षवर्द्धन

नयी दिल्ली, सात अप्रैल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने बुधवार को कहा कि जन जोखिम से जुड़े संवाद से लेकर गैर-कोविड जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं और टीकों की तीव्र उपलब्धता सुनिश्चित करने तक भारत एवं वैश्विक समुदाय ने दिखा दिया है कि अतिवंचितों तक पहुंचने पर विशेष बल देते हुए प्रभावी साझेदारी उपलब्धता की बाधाएं दूर करने में मदद करती है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर हर्षवर्द्धन ने डब्ल्यूएचओ पूर्व एशिया क्षेत्रीय कार्यालय को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 के प्रति भारत का जवाब और इस अप्रत्याशित दौर में वैश्विक सहयोग बढ़ाने में उसकी भूमिका इस पहल की मिसाल है।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमने इस महामारी के विरूद्ध मुहिम में विश्व बिरादरी के साथ मिलकर काम किया हैं । भारत में बनाये जा रहे कोविड-19 टीके अपनी टीका मैत्री पहल के तहत 80 से अधिक देशों के साथ साझा किये गये , यह पहल दुनिया में टीके के वितरण में असमानतओं के समाधान की दिशा में एक अहम कदम रही। ’’

‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के भारत के प्राचीन दर्शन का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि भारत इसमें विश्वास करता है और ‘‘ हमारे कृत्य में यह झलकता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ चूंकि पूरी दुनिया इस दर्शन को तेजी से गले लगा रही है, इसलिए यह निष्पक्ष एवं स्वस्थ विश्व की ओर हमारी अभियान को शीघ्र पूरा करेगा। हमने कोविड-19 से जो पाठ सीखा है उसे हमें बर्बाद नहीं जाने देना चाहिए, कोविड-19 ने स्वास्थ्य नीतियां पर दूरगामी असर डाला है।’’

हर्षवर्द्धन ने कहा कि जन जोखिम संवाद से लेकर गैर-कोविड जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं और टीकों की तीव्र उपलब्धता तक भारत एवं वैश्विक समुदाय ने दिखा दिया है कि अतिवंचितों तक पहुंचने पर विशेष बल देते हुए प्रभावी साझेदारी उपलब्धता की बाधाएं दूर करने में मदद करती है तथा यह हमें सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुलभता के करीब ले गयी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)