देश की खबरें | गुरुग्राम के निजी अस्पताल में बिल में छूट नहीं देने को लेकर तोड़फोड़, कर्मचारियों की पिटाई

गुरुग्राम, 12 फरवरी गुरुग्राम में बिल पर छूट नहीं मिलने पर एक व्यक्ति और उसके साथियों ने एक अस्पताल में तोड़फोड़ की और उसके सुरक्षा पर्यवेक्षक व गार्डों की पिटाई कर दी। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

कर्मचारियों ने कहा कि आरोपियों के हंगामा करने के कारण डीएलएफ फेज 3 के निजी अस्पताल के कुछ कर्मचारियों को खुद को बचाने के लिए एक कमरे में बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

उन्होंने बताया कि इस घटना में अस्पताल कर्मचारी के चार सदस्य घायल हो गए और उनका इलाज जारी है।

अधिकारियों ने कहा कि पूरी घटना अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात मैनेजर पुष्पेंद्र सिंह के मुताबिक, घटना रविवार रात करीब एक बजकर 20 मिनट पर हुई।

सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि एक पुरुष और महिला आपातकालीन विभाग के पास काउंटर पर कर्मचारियों के साथ बहस कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि नाथूपुर गांव के निवासी नवीन की पत्नी संगीता इलाज के लिए आपातकालीन विभाग में आई थी।

सिंह ने आरोप लगाया कि वे उसके इलाज के लिए 50 प्रतिशत की छूट चाहते थे, जिसका बिल 5,667 रुपये था।

सिंह ने अपनी शिकायत में कहा, “मैंने उन्हें समझाया कि हम 50 प्रतिशत की छूट नहीं दे सकते, जिस पर नवीन ने कहा कि वह पूरी छूट चाहता है अन्यथा वह मरीज को लेकर चला जाएगा।”

सिंह ने कहा कि जब सुरक्षा गार्ड योगेन्द्र और सुपरवाइजर कृष्ण कुमार ने उसे रोका तो वह व्यक्ति उनसे उलझ गया और गालियां देने लगा।

उन्होंने कहा, बाद में उसने फोन किया और उसके चार दोस्त अस्पताल आए।

सिंह ने बताया कि जब उनके दोस्त आए, तो उन्होंने गार्ड योगेंदर, कृष्ण, अशोक और फायरमैन ज्योति प्रकाश और बिपिन कुमार की पिटाई की।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)