देश की खबरें | केंद्रीय मंत्री करंदलाजे ने गृह मंत्री से वाल्मीकि सहकारी घोटाले की जांच शुरू करने का आग्रह किया

बेंगलुरु, 11 जुलाई केंद्रीय राज्य मंत्री शोभा करंदलाजे ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अनुरोध किया है कि वह केंद्रीय एजेंसियों को राज्य के स्वामित्व वाले कर्नाटक महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित जनजाति विकास निगम से कोष के अवैध हस्तांतरण की विस्तृत जांच का निर्देश दें।

करंदलाजे ने निगम के लेखा अधीक्षक चंद्रशेखरन पी. की आत्महत्या का भी उल्लेख किया, जिसके बाद यह घोटाला सामने आया है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, चंद्रशेखरन ने अपने सुसाइड नोट में आरोप लगाया है कि निगम की 187 करोड़ रुपए की राशि अवैध रूप से हस्तांतरित की गई। इसमें 88.62 करोड़ रुपए कुछ आईटी कंपनियों और हैदराबाद स्थित एक सहकारी बैंक के विभिन्न खातों में स्थानांतरित किए गए।

कर्नाटक की बैंगलोर उत्तर लोकसभा सीट से सांसद करंदलाजे ने कहा कि हो सकता है कि चंद्रशेखरन ने घोटाले के संबंध में डाले जा रहे अत्यधिक दबाव और मिल रहीं संभावित धमकियों के चलते आत्महत्या की हो।

उन्होंने शाह को लिखे पत्र में कहा, "श्री चंद्रशेखरन का जाना एक गहरा सदमा है और उनकी असामयिक मृत्यु के कारणों की तत्काल पारदर्शी व गहन जांच की आवश्यकता है।”

उन्होंने शाह से अनुरोध किया कि “वाल्मीकि विकास निगम घोटाले की संबंधित अधिकारियों से व्यापक जांच कराई जाए, ताकि इसमें शामिल सभी व्यक्तियों और संस्थाओं को जवाबदेही सुनिश्चित हो सके।”

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)