खेल की खबरें | अंडर-19 मुख्य कोच कानिटकर को भरोसा, कुछ खिलाड़ी भारत के लिए खेलेंगे

बेनोनी (दक्षिण अफ्रीका), 12 फरवरी भारत के अंडर-19 मुख्य कोच ऋषिकेश कानिटकर को भरोसा है कि उनकी इस 2024 की टीम के कुछ खिलाड़ी भविष्य में सीनियर टीम की ओर से खेलेंगे।

पांच बार की चैम्पियन भारत को रविवार को अंडर-19 विश्व कप फाइनल में आस्ट्रेलिया से 79 रन से हार का सामना करना पड़ा लेकिन खिलाड़ी जैसे कप्तान उदय सहारन, मुशीर खान, सौम्य पांडे और सचिन धास ने पूरे टूर्नामेंट में प्रभावित किया।

कानिटकर ने रविवार को मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘निश्चित रूप से भारत का भविष्य उज्जवल है। गेंदबाजी और बल्लेबाजी, दोनों में ही कुछ खिलाड़ियों का प्रदर्शन शानदार रहा है। उन्होंने मुश्किल हालात में परिपक्वता दिखायी जो भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत है।

सहारन पंजाब के लिये खेलते हैं, वह अंडर-19 विश्व कप में 397 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन जुटाने वाले खिलाड़ी रहे। उन्होंने नेपाल के खिलाफ शतक जड़ने के बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेमीफाइनल में 81 रन की मैच विजयी पारी खेली।

तीसरे नंबर के बल्लेबाज मुशीर मुंबई के शानदार बल्लेबाज सरफराज खान के छोटे भाई हैं। वह टीम के लिए बल्ले से सबसे ज्यादा निरंतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी रहे और उन्होंने 360 रन बनाये।

इन दोनों के अलावा धास ने ‘फिनिशर’ की भूमिका बेहतरीन ढंग से निभायी और बायें हाथ के स्पिनर पांडे ने 18 विकेट झटके। महाराष्ट्र के बल्लेबाज धास ने ऐसा जज्बा दिखाया जो शीर्ष स्तर के क्रिकेट में जरुरी होता है।

भारतीय टीम हमेशा ही आयु ग्रुप में ‘पावरहाउस’ रही है और अंडर-19 विश्व कप ने विराट कोहली, युवराज सिंह, मोहम्मद कैफ, सुरेश रैना, शिखर धवन, रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा, केएल राहुल, ऋषभ पंत, शुभमन गिल और यशस्वी जायसवाल जैसे स्टार दिये हैं।

कानिटकर ने कहा, ‘‘हर बार कुछ खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो या तो इंडियन प्रीमियर लीग या भारतीय टीम में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि इसमें भी कुछ खिलाड़ी ऐसे होंगे जो भारतीय टीम में खेलेंगे लेकिन इसके लिए भी काफी कड़ी प्रतिस्पर्धा है। ’’

अंडर-19 टीम के अर्शिन कुलकर्णी और अविनाश राव को पहले ही इंडियन प्रीमियर लीग का अनुबंध मिल चुका है।

कानिटकर (49 वर्ष) को लगता है कि अंडर-19 विश्व कप में खेलने से खिलाड़ियों को पता चलता है कि सीनियर स्तर पर कैसे खेला जाता है।

उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ियों के लिए यह शानदार यात्रा है, उनका प्रदर्शन सुर्खियों में रहता है और उनका प्रदर्शन मायने रखता है क्योंकि सभी की निगाहें लगी होती हैं। वे इन परिस्थितियों के आदी हो जाते हैं। वे जानते हैं कि उनसे क्या उम्मीद की जाती है और जब वे शीर्ष स्तर पर खेलेंगे तो उन्हें तैयार रहना चाहिए। ’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)