देश की खबरें | अस्पताल में आग लगने के मामले में दो डॉक्टर गिरफ्तार

रायपुर, चार मई छत्तीसगढ़ के रायपुर शहर में निजी अस्पताल में आग लगने से पांच लोगों की मृत्यु के मामले में पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन के दो बोर्ड सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।

रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को यहां बताया कि शहर के राजधानी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में आग लगने से पांच लोगों की मृत्यु के मामले में पुलिस ने डॉक्टर सचिन मल और डॉक्टर अरविंदो रॉय को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन से जुड़े दोनों चिकित्सकों पर दुर्घटना के दौरान लापरवाही बरतने का आरोप है। इस मामले में डॉक्टर संजय जादवानी और डॉक्टर विनोद लालवानी की खोज की जा रही है।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तब जानकारी मिली कि अस्पताल में आगजनी के दौरान आग से बचाव के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं की गई थी। उन्होंने बताया कि इस दौरान फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) के विशेषज्ञों ने भी अस्पताल की इस लापरवाही की तरफ इशारा किया था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मामले की तहकीकात की जा रही है। जल्द ही इस घटना के अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

रायपुर के टिकरापारा थाना क्षेत्र में स्थित राजधानी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 17 अप्रैल को आग लगने से एक महिला समेत पांच कोविड—19 मरीजों की मौत हो गई थी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक इस घटना में एक मरीज की जलने से तथा चार अन्य की दम घुटने से मौत हुई है।

घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया है कि घटना के दौरान अस्पताल के वार्ड में लगभग 30 मरीज मौजूद थे जिन्हें अन्य स्थानों पर भेजा गया था। घटना के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घटना पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की थी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)