देश की खबरें | सीओए में आंबेडकर विश्वविद्यालय के तहत प्रवेश को लेकर शिक्षकों ने कुलपति को पत्र लिखा

नयी दिल्ली, 17 मई दिल्ली विश्वविद्यालय के 11 शिक्षकों ने मंगलवार को कुलपति योगेश सिंह को पत्र लिखकर कॉलेज ऑफ आर्ट्स (सीओए) द्वारा प्रवेश प्रक्रिया आंबेडकर विश्वविद्यालय के तहत शुरू किये जाने के मामले में आवश्यक हस्तक्षेप का आग्रह किया है।

सीओए में ललित कला में स्नातक और स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रम कराये जाते हैं।

इन 11 शिक्षकों में विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद (ईसी) और अकादमिक परिषद (एसी) के सदस्य भी हैं। उन्होंने पत्र में लिखा कि इस तरह की ‘दुर्भाग्यपूर्ण कार्रवाई’ दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के अधिनियमों और विधान के विरोधाभासी है।

दिल्ली विश्वविद्यालय और दिल्ली सरकार में इस कला संस्थान की संबद्धता को लेकर पहले से जारी गतिरोध के बीच नया घटनाक्रम सामने आया है। दिल्ली सरकार ने पिछले साल मार्च में घोषणा की थी कि सीओए को आंबेडकर विश्वविद्यालय से संबद्ध किया जाएगा। आंबेडकर विश्वविद्यालय दिल्ली सरकार द्वारा वित्तपोषित संस्थान है।

सीओए में पिछले शिक्षण सत्र में संबद्धता के विषय के कारण प्रवेश नहीं हो सके थे।

डीयू की अकादमिक परिषद के सदस्य आलोक पांडेय ने कहा कि आंबेडकर विश्वविद्यालय ने हाल ही में एक बैठक की जिसमें घोषणा की गयी कि सीओए में आंबेडकर विश्वविद्यालय के तहत प्रवेश शुरू होंगे।

पत्र में कहा गया है कि आंबेडकर विश्वविद्यालय की कार्रवाई कार्यकारी परिषद के फैसले की अवज्ञा है।

इस बारे में आंबेडकर विश्वविद्यालय की कुलपति अनु सिंह से प्रतिक्रिया लेने का प्रयास किया गया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।

डीयू के कुलपति योगेश सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय ने सीओए से दिल्ली विश्वविद्यालय के तहत प्रवेश संचालित करने को कहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने कॉलेज ऑफ आर्ट्स से दिल्ली विश्वविद्यालय के तहत प्रवेश करने को कहा है। हम इंतजार कर रहे हैं।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)