जरुरी जानकारी | चालू वित्त वर्ष में हवाई यात्रियों की संख्या 40.7 से 41.8 करोड़ तक पहुंचने का अनुमान

नयी दिल्ली, 16 मई देश में चालू वित्त वर्ष 2024-25 में हवाई यात्रियों की संख्या 40.7 से 41.8 करोड़ के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचने का अनुमान है। रेटिंग एजेंसी इक्रा ने यह बात कही है।

वित्त वर्ष 2023-24 में यह आंकड़ा 37.64 करोड़ था। यह कोविड-19 वैश्विक महामारी से पहले की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक है।

इक्रा ने एक रिपोर्ट में कहा, वित्त वर्ष 2024-25 में समग्र यातायात में सालाना आधार पर करीब आठ से 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ यात्रियों की संख्या 40.7 से 41.8 करोड़ होने की उम्मीद है। अवकाश और व्यावसायिक यात्रा दोनों में मजबूत वृद्धि के साथ घरेलू क्षेत्र में नए गंतव्यों तक पहुंच में सुधार और अंतरराष्ट्रीय यात्रा में निरंतर वृद्धि इसकी मुख्य वजह रहेगी।

रिपोर्ट में कहा गया कि वित्त वर्ष 2024-25 में चुनिंदा हवाई अड्डा परिचालकों का सालाना आधार पर राजस्व कुल 15-17 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है।

इक्रा ने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के साथ-साथ दिल्ली, हैदराबाद और कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के परिचालकों के बीच किए सर्वेक्षण के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की है।

इक्रा में कॉरपोरेट रेटिंग के उपाध्यक्ष एवं क्षेत्र प्रमुख विनय कुमार जी. ने कहा, ‘‘ भारतीय हवाई अड्डा यात्रियों की संख्या में सुधार अन्य प्रमुख वैश्विक समकक्षों की तुलना में सबसे अधिक में से एक है। कैलेंडर वर्ष 2023 में वैश्विक यात्री यातायात में भारत की हिस्सेदारी 4.2 प्रतिशत, जबकि 2019 में 3.8 प्रतिशत थी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ मजबूत आर्थिक वृद्धि के साथ-साथ नए मार्गों के जुड़ने से भारतीय यात्री यातायात कोविड-पूर्व के मुकाबले 106 प्रतिशत तक पहुंच गया। भारतीय हवाई यात्री यातायात के वैश्विक रुझान से बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद है।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)