देश की खबरें | कश्मीर में रोजमर्रा की जिंदगी का अक्स दिखाती है किताब ‘लाइफ इन द क्लॉक टावर वैली’

नयी दिल्ली, नौ मई प्रेम कहानियों के माध्यम से एक नये उपन्यास में कश्मीर घाटी में रोजमर्रा की जिंदगी और भावनाओं को दर्शाया गया है।

‘लाइफ इन द क्लॉक टावर वैली’ ‘प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया’ (पीटीआई) के पत्रकार शकूर राथेर की पहली किताब है। किताब का प्रकाशन ‘स्पीकिंग टाइगर’ ने किया है। इसमें कश्मीर के सुन्दर अतीत, तकलीफदेह वर्तमान और हमेशा अनिश्चित रहने वाले भविष्य के बारे में बात की गयी है।

इसमें कश्मीर के इतिहास और राजनीति के अलावा पर्यावरण संबंधी चिंताओं पर भी चर्चा की गयी है, जिनपर सामान्य रूप से कोई बात नहीं करता।

घाटी में जीवन के विभिन्न पहलुओं के अलावा लेखक अपनी किताब में रोज-रोज के जीवन में उभरने वाले अलग-अलग किरदारों पर भी चर्चा करता है।

प्रेम कहानियों की बात करें तो लेखक बताता है कि कैसे मेटाडोर, कैम्पस कॉरिडोर और शहर के ऐतिहासिक विरासतों में घूमते-घूमते समर और राबिया एक-दूसरे को जानते हैं और करीब आते हैं।

लेकिन साथ ही घाटी में बार-बार लगने वाले कर्फ्यू और अपने परिवारों के राजनीतिक झुकाव के कारण उनके प्रेम पर संकट के बादल भी मंडराते हैं।

इसके अलावा भी कई अन्य प्रेम कहानियां इस उपन्यास का हिस्सा हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)