विदेश की खबरें | पाकिस्तान में तरीन और खट्टक ने राजनीति छोड़ी, हक का जेआई प्रमुख के पद से इस्तीफा
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

इस्लामाबाद, 12 फरवरी पाकिस्तान में आठ फरवरी के आम चुनाव में अपनी-अपनी पार्टियों के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए आईपीपी प्रमुख जहांगीर खान तरीन और पीटीआई-पी के अध्यक्ष परवेज खट्टक ने सोमवार को राजनीति छोड़ने की घोषणा की, जबकि जेआई प्रमुख सिराजुल हक ने कहा वह पार्टी प्रमुख पद से इस्तीफा दे देंगे।

इस्तेहकाम-ए-पाकिस्तान पार्टी (आईपीपी) के तरीन, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ-पार्लियामेंटेरियन (पीटीआई-पी) के खट्टक और जमात-ए-इस्लामी (जेआई) के हक का यह फैसला आम चुनाव में उनकी अपनी पार्टियों को भारी हार का सामना करने के बाद आया।

तरीन ने कहा, ‘‘मैं इस चुनाव में मेरा समर्थन करने वाले सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं और अपने विरोधियों को बधाई देना चाहता हूं। पाकिस्तान के लोगों की इच्छा के प्रति मेरे मन में बहुत सम्मान है। इसलिए, मैंने आईपीपी के अध्यक्ष के रूप में अपने पद से इस्तीफा देने और राजनीति से पूरी तरह दूर जाने का फैसला किया है।’’

कभी इमरान खान के करीबी माने जाने वाले तरीन की नवगठित पार्टी ने नेशनल असेंबली की केवल दो सीट जीतीं। उनकी पार्टी ने एक प्रांतीय विधानसभा सीट पर भी जीत हासिल की ।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, परवेज़ खट्टक ने भी अपनी पार्टी के पद से इस्तीफा दे दिया है और कहा है कि वह फिलहाल राजनीति से ‘छुट्टी ले रहे हैं’।

सोमवार को, हक ने यह भी घोषणा की कि वह पार्टी प्रमुख के पद से हट रहे हैं क्योंकि उन्होंने चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी ली है।

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने सोमवार को विवादों से घिरे आम चुनावों के पूर्ण नतीजे जारी किए।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)