जरुरी जानकारी | तमिलनाडु आर्थिक क्षेत्र के लिए देश के बेहतर राज्यों में से एक: डीपी वर्ल्ड

नयी दिल्ली, 16 मई लॉजिस्टिक क्षेत्र की कंपनी डीपी वर्ल्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि आर्थिक क्षेत्र के लिए तमिलनाडु देश के सबसे अच्छे राज्यों में से एक है। इसका कारण यह है कि तमिलनाडु देश में सबसे अधिक औद्योगिकीकृत राज्यों में से एक है।

डीपी वर्ल्ड ने चेन्नई में भारत के अपने सबसे बड़े मुक्त व्यापार गोदाम क्षेत्र में परिचालन शुरू कर दिया है।

चेन्नई में बना यह केंद्र मुंबई के बाद भारत में कंपनी का दूसरा मुक्त व्यापार गोदाम क्षेत्र (एफटीडब्ल्यूजेड) है। इसे 18 महीने पहले स्थापित किया गया था।

डीपी वर्ल्ड के उपाध्यक्ष (आर्थिक क्षेत्र- भारतीय उपमहाद्वीप और पश्चिम एशिया तथा उत्तरी अफ्रकी) रंजीत रे ने कहा कि चेन्नई को रणनीतिक लाभ भी है क्योंकि यह समुद्री मार्ग के माध्यम से दक्षिण एशिया, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया से जुड़ा हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘‘तमिलनाडु आर्थिक क्षेत्र के मामले में देश के सबसे अच्छे राज्यों में से एक है। हमने अभी कारोबार शुरू किया है और अब छह महीने में 15 प्रतिशत का उपयोग है।’’

डीपी वर्ल्ड का चेन्नई आर्थिक क्षेत्र छह लाख वर्ग फुट में फैला हुआ है और इसके 20 लाख वर्ग फुट तक बढ़ने की संभावना है।

रे ने कहा कि तमिलनाडु पिछले 40-50 साल से देश के सबसे अधिक औद्योगिकीकृत राज्यों में से एक रहा है।

डीपी वर्ल्ड का इंटिग्रेटेड चेन्नई बिजनेस पार्क (आईसीबीपी) आर्थिक क्षेत्र प्रमुख बंदरगाहों के 40 किमी के दायरे में स्थित है। इसमें कट्टुपल्ली (15 किमी), एन्नोर (11 किमी),और चेन्नई (27 किमी) शामिल हैं। ये माल परिवहन को सुव्यवस्थित करता है।

रे ने कहा कि भारत में डीपी वर्ल्ड के चेन्नई, मुंबई जेएनपीए (जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह प्राधिकरण) में तीन आर्थिक क्षेत्र हैं। कोच्चि में आर्थिक क्षेत्र जल्द चालू होगा।

भारत में आर्थिक क्षेत्रों को मुक्त व्यापार क्षेत्र या मुक्त व्यापार भंडारण क्षेत्र भी कहा जाता है। उन्हें देश की सीमाओं के भीतर विदेशी क्षेत्र माना जाता है जहां माल को बिना किसी बाधा के आयात किया जा सकता है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)