देश की खबरें | उत्तर प्रदेश में 'टीएमसी राजनीति' का प्रयोग करना चाहती है सपा, कांग्रेसः मोदी

भदोही (उप्र), 16 मई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस 'तृणमूल की राजनीति' को आजमाना चाहती है और उन्होंने इसे तुष्टीकरण और महिलाओं व दलित उत्पीड़न की राजनीति करार दिया।

भदोही में एक जनसभा में विपक्षी दलों के गठबंधन 'इंडिया' के घटक दलों पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश में तृणमूल की राजनीति का प्रयोग करना चाहते हैं। भदोही से 'इंडिया' गठबंधन की ओर से तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

उन्होंने कहा, '' भदोही में सपा-कांग्रेस के लिए जमानत बचाना भी मुश्किल हो गया है। इसलिए ये भदोही में सियासी प्रयोग कर रहे हैं। ''

मोदी ने कहा, ''तृणमूल राजनीति का अर्थ हिंदुओं की हत्या, दलितों और आदिवासियों का उत्पीड़न, महिलाओं पर अत्याचार है। अनेक भाजपा नेता वहां (पश्चिम बंगाल में) मार दिये गये और तृणमूल विधायक कहते हैं कि वे हिंदुओं को गंगा में डुबोकर मार देंगे।''

प्रधानमंत्री ने कहा, ''आप जानते हैं कि तृणमूल पश्चिम बंगाल में किस तरह की राजनीति करती है।''

उन्होंने कहा,'' आप जानते हैं कि तृणमूल बंगाल में कैसी राजनीति करती हैं? तृणमूल की राजनीति यानी तुष्टीकरण का जहरीला तीर, तृणमूल की राजनीति यानी राम मंदिर को अपवित्र बताना, तृणमूल की राजनीति यानी रामनवमी मनाने पर प्रतिबंध लगाना, तृणमूल की राजनीति यानी बांग्लादेशी घुसपैठियों को संरक्षण देना।...सपा उप्र को इसी दिशा में लेकर जाना चाहती है।''

समाजवादी पार्टी (सपा) पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि पिछली राज्य सरकार के तहत आतंकवादियों को स्पेशल प्रोटोकॉल मिलता था और सरकार सिमी के प्रति मेहरबान थी।

मोदी ने मायावती का परोक्ष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि पहले वाली बुआ ने सपा वालों को छोड़ दिया और अब यह बंगाल से बुआ लायें हैं। आपको इनसे सैकड़ों मील दूर रहना हैं।

अखिलेश यादव और ममता बनर्जी का बिना नाम लिये मोदी ने कहा,''मैं आज बबुआ से समाजवादी शहजादे से एक सवाल करना चाहता हूं। बुआ तो आपकी इतनी करीबी हैं कि बंगाल से यहां तक आपके पास आई हैं। लेकिन क्या कभी आपने अपनी नई बुआ से पूछा कि वो बंगाल में उप्र-बिहार वालों को बाहरी क्यों कहती हैं?''

उन्होंने कहा, ''तृणमूल और सपा को जोड़ने वाली एक ही चीज हैं, वह है तुष्टीकरण। तुष्टीकरण के यह ठेकेदार भारत की पहचान बदलना चाहते हैं। यह वहीं लोग हैं जो भगवान राम को काल्पनिक बताते थे। इनके समय में अयोध्या की सड़कों और घाटों की क्या दशा हुआ करती थी?''

उप्र की विकास योजनाओं के बारे में मोदी ने कहा कि भाजपा ने दिनरात मेहनत करके उप्र की छवि बदली है। आज उप्र की पहचान एक्सप्रेस वे से हो रही है।... सपा सरकार में वन डिस्ट्रिक्ट-वन माफिया चलता था।..लेकिन जब से योगी जी और उनके साथी सरकार में आए हैं, तो यहां पूरा माहौल बदल गया है। अब जनता नहीं डरती, माफिया डरते हैं।

भाजपा ने भदोही से विनोद बिंद को प्रत्याशी बनाया है। यहां छठे चरण में 25 मई को मतदान होगा।

जफर

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)