विदेश की खबरें | सादिक खान ने दूसरी बार लंदन के महापौर का चुनाव जीता

लंदन, नौ मई ब्रिटेन में सादिक खान ने लगातार दूसरी बार महापौर पद का चुनाव जीत लिया है। उन्हें 55.2 प्रतिशत वोट मिले जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 44.8 मत हासिल हुए।

लेबर पार्टी के प्रत्याशी खान (51) ने कंजर्वेटिव पार्टी के शॉन बैली को शिकस्त दी है। खान को 1,206,034 वोट मिले जबकि बैली को 977,601 मतों से संतोष करना पड़ा। महापौर पद के लिए चुनाव बृहस्पतिवार को हुए थे और मतगणना शनिवार को रात भर चली।

खान पाकिस्तानी मूल के हैं और वह लेबर पार्टी से संसद के सदस्य रह चुके हैं। वह 2016 में महापौर पद के लिए चुने गए थे। खान लंदन के पहले मुस्लिम महापौर हैं। महापौर का चुनाव पिछले साल होना था लेकिन 2020 में कोरोना वायरस महामारी के चलते इसे टाल दिया गया था।

खान ने कहा, “ लंदन वासियों ने पृथ्वी के सबसे महान शहर का नेतृत्व जारी रखने के लिए मुझमें जो विश्वास जताया है, उसके लिए मैं बेहद सम्मानित महसूस कर रहा हूं।”

उन्होंने महामारी के अंधकार भरे दिनों के बाद लंदन के भविष्य को उज्ज्वल और बेहतर बनाने के लिए काम करने का वादा किया।

उन्होंने कहा, “ ब्रिटेन में हुए चुनावों के नतीजे दिखाते हैं हमारा देश और यहां तक कि हमारा शहर, काफी विभाजित है। ब्रेग्जिट के घाव अभी भरे नहीं हैं।”

खान के प्रतिद्वंद्वी बैली ने कहा कि सर्वेक्षणों में, पत्रकारों ने तथा अन्य राजनीतिक नेताओं ने उन्हें खारिज कर दिया था लेकिन लंदन के वासियों ने उन्हें खारिज नहीं किया।

लेबर पार्टी लंदन की विधानसभा में अपना प्रभुत्व बचाने में कामयाब रही है जबकि उसने ग्रेटर मैंचेस्टर में भी महापौर के पद पर चुनाव जीता है जहां एंडी बर्नहैम जबर्दस्त अंतर से पुन:निर्वाचित हुए हैं।

बहरहाल, कुल मिलाकर देखें तो स्थानीय चुनाव में विपक्षी लेबर पार्टी को लोगों ने खारिज किया है। वह कई गढ़ों में हार गई है। कंजर्वेटिव पार्टी ने करीब 12 परिषदों पर कब्जा जमाया है और लेबर पार्टी सात परिषदों पर से नियंत्रण खो बैठी है। साथ में लेबर पार्टी वेस्ट मिडलैंड्स से लोकप्रिय महापौर कंजर्वेटिव पार्टी के एंडी स्ट्रीट को भी शिकस्त देने में नाकाम रही है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)