देश की खबरें | दक्षिणपंथी समूहों ने एनएफएआई में एक फिल्म दिखाने पर आपत्ति जताई

पुणे, 11 फरवरी पुणे में एक दक्षिणपंथी संगठन के सदस्यों ने रविवार को नेशनल फिल्म आर्काइव ऑफ इंडिया (एनएफएआई) के परिसर में घुसकर एक फिल्म की स्क्रीनिंग पर आपत्ति जताई और दावा किया कि इसमें भारतीय सेना को खराब रूप में दिखाया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने कहा कि समस्त हिंदू बांधव संगठन से जुड़े प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया और महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम, 1951 के तहत नोटिस जारी करने के बाद छोड़ दिया गया।

यह घटना उस समय हुई जब एनएफएआई के 'ए फेस्टिवल ऑफ कंटेम्पररी इंडियन फिल्म्स' के दौरान 'आई एम नॉट द रिवर झेलम' नामक एक फिल्म दिखाई जा रही थी।

अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी करते हुए स्क्रीनिंग बंद करने की मांग की।

दक्षिणपंथी संगठन के अध्यक्ष रवींद्र पडवाल ने कहा कि उन्होंने यह जानने के बाद फिल्म पर आपत्ति जताई कि इसमें कुछ दृश्यों में कश्मीर में भारतीय सेना की छवि खराब दिखाई गई है।

पडवाल ने कहा, “दर्शकों में मौजूद कुछ लोगों ने हमें फिल्म में सेना के इस तरह के चित्रण के बारे में बताया। जब हम वहां पहुंचे तो फिल्म खत्म होने वाली थी। हमने दृश्यों पर आपत्ति जताई और सेना के समर्थन में नारे लगाए।”

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)