देश की खबरें | राजस्थान: एग्जिट पोल के बाद दोनों दलों के नेताओं ने अपनी सरकार बनने का विश्वास जताया

जयपुर, 30 नवंबर राजस्थान में 25 नवंबर को हुए मतदान पर एग्जिट पोल के नतीजों ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में सरकार बनाने की उत्सुकता बढ़ा दी है।

मतगणना तीन दिसंबर को होगी।

अब तक सामने आए चार एग्जिट पोल में से सभी में भाजपा को बढ़त बताई जा रही है। वहीं, सत्तारूढ़ कांग्रेस 60 से 90 सीट पर सिमटती नजर आ रही है। ‘पोल ऑफ पोल्स’ में भाजपा को 112 सीट, कांग्रेस को 77 सीट और अन्य को छह सीट मिलने की बारे में बताया गया है।

नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा, ‘‘भाजपा को एग्जिट पोल के पूर्वानुमानों से अधिक सीटें मिलेंगी क्योंकि कांग्रेस के खिलाफ ‘अंडरकरंट’ (अंदरूनी लहर) था। इस बार राजस्थान विधानसभा चुनावों में मतदान प्रतिशत अधिकतम रहा जो दर्शाता है कि सत्ता विरोधी लहर थी।’’

तिजारा से भाजपा उम्मीदवार और सांसद बालकनाथ ने एग्जिट पोल पर कहा, ‘‘राजस्थान के लोग कांग्रेस से मुक्ति चाहते हैं। भाजपा राजस्थान के साथ-साथ मध्य प्रदेश में भी बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है।’’

भाजपा सांसद और झोटवाड़ा सीट से उम्मीदवार राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने संवाददाताओं से कहा कि लोग परिवर्तन चाहते हैं और तीन दिसंबर को परिणाम पार्टी के पक्ष में होगा।

वहीं, कांग्रेस नेताओं ने दावा किया कि राजस्थान में ‘रिवाज बदलेगा, राज नहीं’ यानी एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने एग्जिट पोल पर कहा, ‘‘एग्जिट पोल से संकेत मिलता है कि राजस्थान में ‘राज नहीं रिवाज’ बदलने वाला है क्योंकि कांग्रेस बहुमत से जीतने जा रही है।’’

कांग्रेस प्रत्याशी और मौजूदा मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि कांग्रेस सरकार बना सकती है क्योंकि लोगों ने कांग्रेस के विकास मॉडल विश्वास जताया है।

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की सरकार बनने की संभावना अधिक है। लोगों ने कांग्रेस के विकास मॉडल पर मुहर लगा दी है।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)