विदेश की खबरें | ऑस्ट्रेलिया में बिशप और पादरी पर चाकू से हमले को आतंकवादी कृत्य मान रही है पुलिस
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

पुलिस ने 'क्राइस्ट द गुड शेफर्ड चर्च' में चाकू से हमल की घटना के बाद मंगलवार को 16 वर्ष के एक किशोर को गिरफ्तार किया। घटना में बिशप मार मारी इमैनुएल और एक पादरी घायल हुए हैं। हालांकि इस हमले में घायल दोनों के बच जाने की उम्मीद है।

न्यू साउथ वेल्स पुलिस आयुक्त कारेन वेब ने बताया कि संदिग्ध की टिप्पणियां हमले के लिए धार्मिक मकसद की ओर इशारा करती हैं।

अधिकारी ने बताया, ''हमें लगता है कि यह हमला एक सोची-समझी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है क्योंकि इस व्यक्ति ने हमले के लिए ऐसे स्थान को चुना, जो उसके घर के आसपास तक नहीं है। आरोपी चाकू के साथ आया और गिरजाघर में घुसकर बिशप व पादरी पर चाकू से हमला किया''

उन्होंने कहा, ''वे खुशकिस्मत हैं कि वे जिंदा बच गये।''

अधिकारी ने बताया कि किशोर को पुलिस जानती थी लेकिन वह निगरानी सूची में नहीं था।

देश की मुख्य खुफिया एजेंसी ऑस्ट्रेलियन सिक्योरिटी इंटेलिजेंस ऑर्गनाइजेशन (एएसआईओ), ऑस्ट्रेलियन फेड्रल पुलिस और प्रांतीय पुलिस मामले की जांच में आतंक रोधी कार्यबल का सहयोगी कर रही हैं।

एएसआईओ के महानिदेशक माइक बर्गीस ने बताया कि जांच में इस घटना से संबंधित किसी खतरे का खुलासा नहीं हुआ है। बर्गीस ने कहा, ''ऐसा प्रतीत होता है कि घटना धार्मिक रूप से प्रेरित है लेकिन हम सभी पहलुओं की जांच कर रहे हैं।''

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)