देश की खबरें | एनआईए ने पूर्व पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा से नौ घंटे तक की पूछताछ

मुंबई, आठ अप्रैल उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर एक वाहन में विस्फोटक सामग्री मिलने और कारोबारी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में पूर्व पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा बृहस्पतिवार को दूसरे दिन एनआईए के समक्ष पेश हुए।

‘मुठभेड़ विशेषज्ञ’ कहे जाने वाले शर्मा को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया था।

इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि शर्मा दोपहर लगभग एक बजे दक्षिण मुंबई स्थित एनआईए कार्यालय पहुंचे।

एक अधिकारी ने बताया, ‘‘शर्मा से नौ घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की गयी। वह रात सवा दस बजे एनआईए कार्यालय से चले गए।’’

सूत्रों ने बताया कि शर्मा का निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे और दो अन्य लोगों से आमना-सामना कराए जाने की संभावना है जिन्हें मामले की जांच के सिलसिले में एनआईए ने पूर्व में गिरफ्तार किया था।

एनआईए ने बुधवार को शर्मा से सात घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी।

शर्मा को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का उस समय विश्वस्त अधिकारी माना जाता था जब वह ठाणे पुलिस के प्रमुख थे। स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने से पहले शर्मा ने ठाणे अपराध शाखा के वसूली रोधी प्रकोष्ठ में काम किया था। शर्मा ने 2019 में पालघर जिले की नाला सोपारा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)