देश की खबरें | राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा उम्मीदवारों की सूची में आरपीएन सिंह, सुधांशु त्रिवेदी के नाम शामिल

नयी दिल्ली, 11 फरवरी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आगामी राज्यसभा चुनावों के लिए रविवार को 14 उम्मीदवारों के नाम घोषित किये, जिनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री आर पी एन सिंह और उत्तर प्रदेश से निवर्तमान सांसद सुधांशु त्रिवेदी का नाम शामिल है।

राज्यसभा में कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करने वाले केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर और भाजपा के मुख्य प्रवक्ता एवं मीडिया प्रमुख तथा उत्तराखंड से निवर्तमान सांसद अनिल बलूनी के स्थान पर नए चेहरों को टिकट दिया गया है। चंद्रशेखर और बलूनी को आगामी लोकसभा चुनाव लड़ाने के संकेत हैं।

राज्यसभा प्रत्याशी के नए नामों में कर्नाटक से नारायणसा के. भंडगे और छत्तीसगढ़ से देवेंद्र प्रताप सिंह शामिल हैं। ये ऐसे नाम हैं जो उतने परिचित नहीं हैं लेकिन पार्टी के लिए वर्षों की कड़ी मेहनत के लिए उन्हें एक तरह से पुरस्कृत किया गया है।

सिंह तत्कालीन गोंड शाही परिवार से हैं और उन्होंने सरोज पांडे की जगह ली है।

बिहार से भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी का नाम पार्टी द्वारा घोषित उम्मीदवारों की सूची में नहीं है।

बिहार में राज्यसभा की छह सीट पर चुनाव होने हैं और राज्य में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) तथा विपक्ष (महागठबंधन), दोनों के अपनी मौजूदा संख्या बल के आधार पर तीन-तीन सीट जीतने की संभावना है। भाजपा नीत राजग की सहयोगी जनता दल (यूनाइटेड) एक सीट पर अपना उम्मीदवार उतार सकती है। राज्य से भाजपा के उम्मीदवार धर्मशिला गुप्ता और भीम सिंह हैं।

भाजपा की ओर से जारी इस सूची में किसी भी ऐसे केन्द्रीय मंत्री का नाम नहीं है जिनका कार्यकाल समाप्त हो रहा है, जिससे ऐसी संभावना है कि उन्हें आगामी लोकसभा चुनाव मैदान में उतारा जा सकता है।

हालांकि, पार्टी ने अभी कई सीटों पर उम्मीदवारों के नाम घोषित नहीं किए हैं जिनमें गुजरात, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सीटें शामिल हैं।

केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया (गुजरात) और परषोत्तम रूपाला (गुजरात), केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और एल मुरुगन(दोनों मध्य प्रदेश) व केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (महाराष्ट्र) का राज्यसभा सदस्य का कार्यकाल पूरा हो रहा है।

राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण कुर्मी जाति से आने वाले आर पी एन सिंह भाजपा में शामिल होने से पहले कांग्रेस में थे। वह कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में मंत्री रहे।

भाजपा की हरियाणा इकाई के पूर्व अध्यक्ष सुभाष बराला राज्य (हरियाणा) से पार्टी के उम्मीदवार होंगे जबकि समिक भट्टाचार्य पश्चिम बंगाल से उम्मीदवार होंगे।

लंबे समय से पार्टी संगठन में काम कर रहे नए चेहरों पर भरोसा करने के साथ-साथ भाजपा ने अपने उम्मीदवारों को चुनने में जाति समीकरण का संतुलन बनाए रखा है।

पंद्रह राज्यों की 56 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव 27 फरवरी को होने हैं और नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 15 फरवरी है।

भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा का नाम सूची में नहीं है और हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा का उनका कार्यकाल समाप्त हो रहा है। राज्य में कांग्रेस के सत्ता में होने के कारण, भाजपा अपने सदस्य को यहां से निर्वाचित कराने की स्थिति में नहीं है और सूत्रों ने कहा कि नड्डा को किसी अन्य राज्य से उच्च सदन में लाया जा सकता है या वह लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं।

सुधांशु त्रिवेदी को छोड़कर, उत्तर प्रदेश के नौ निवर्तमान भाजपा सांसदों में से किसी को भी दोबारा उम्मीदवार नहीं बनाया गया है। उत्तर प्रदेश से जिन्हें राज्यसभा के लिए उम्मीदवार नहीं बनाया गया है उनमें अनिल जैन, अनिल अग्रवाल और जी वी एल नरसिम्हा राव शामिल है।

भाजपा विधानसभा में अपने संख्याबल के आधार पर राज्यसभा की 10 रिक्तियों में से अपने सात उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित कर सकती है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)