ताजा खबरें | ‘मुगलों वाली मानसिकता’ : मोदी ने मांसाहारी भोजन के वीडियो को लेकर विपक्षी नेताओं पर साधा निशाना

उधमपुर (जम्मू कश्मीर), 12 अप्रैल कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को विपक्षी नेताओं पर ‘‘मुगलों वाली मानसिकता’’ को प्रदर्शित करने का आरोप लगाया।

मोदी ने विपक्षी नेताओं पर नवरात्र और सावन के दौरान मांसाहारी भोजन खाकर और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर देश के लोगों को ‘‘चिढ़ाने’’ का भी आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि लोग अपनी पसंद के खान-पान के लिए स्वतंत्र है, लेकिन विपक्षी नेताओं के कृत्यों के पीछे के मकसद अलग थे।

मोदी ने केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के समर्थन में यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि नवरात्र के दौरान मांसाहारी भोजन खाने और उसे दिखाने से लोगों की भावनाएं आहत होती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह कहने के लिए वे लोग मुझ पर गालियों की बौछार करेंगे। मुझे निशाना बनाएंगे। लेकिन जब यह सहनशीलता से परे हो गया, तो लोकतंत्र में यह मेरा कर्तव्य है कि मैं लोगों को सही चीजें बताऊं। यह मेरा काम है। मैं अपना कर्तव्य निभा रहा हूं।’’

मोदी ने आरोप लगाया कि ये नेता लोगों के एक बड़े वर्ग को उकसाने के लिए जानबूझकर ऐसी हरकतें कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘न तो कानून, न ही मोदी किसी को कुछ भी खाने से रोकता है। सभी लोग जब चाहें शाकाहारी और मांसाहारी भोजन करने के लिए स्वतंत्र हैं लेकिन इन नेताओं का मकसद अलग था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुगलों को मंदिरों को तोड़कर संतोष मिलता था, राजाओं को हराकर नहीं। वे इससे आनंद प्राप्त करते थे।’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इसी तरह, वे (इंडिया गठबंधन के नेता) इस तरह के वीडियो जारी करके देश के लोगों को चिढ़ाते हैं और अपने वोट बैंक को मजबूत करते हैं।’’

नवरात्र और सावन के महीने के दौरान कुछ नेताओं के मांसाहारी भोजन खाने और इसका वीडियो वायरल करने का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘सावन के महीने में एक सजायाफ्ता मुजरिम के घर जाकर वे मटन पका रहे थे। उन्होंने देश के लोगों को चिढ़ाने के लिए इसका वीडियो बनाया।’’

प्रधानमंत्री का इशारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी के राजद प्रमुख लालू प्रसाद के घर जाने और मटन पकाए जाने की ओर था।

मोदी ने कहा, ‘‘उनकी मानसिकता मुगलों वाली है। उन्हें पता नहीं कि जनता जब मुंहतोड़ जवाब देती है, तो बड़े-बड़े राजवंशों के राजकुमार दरकिनार हो जाते हैं। वंशवादी पार्टियों और भ्रष्टाचार से ग्रस्त लोगों को मौका नहीं दिया जाना चाहिए।’’

राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी हाल में हेलीकॉप्टर में मछली करी का लुत्फ उठाने का एक वीडियो जारी किया था। आलोचना होने के बाद उन्होंने सफाई दी कि यह वीडियो नवरात्र शुरू होने से एक दिन पहले आठ अप्रैल को शूट किया गया था।

सुभाष

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)