देश की खबरें | महाराष्ट्र में विधान परिषद चुनाव से पहले रात्रिभोज पर बैठकें, होटलों में ठहरे विधायक

मुंबई, 11 जुलाई महाराष्ट्र के राजनीतिक दलों ने ‘क्रॉस वोटिंग’ की बढ़ती प्रवृत्ति के बीच शुक्रवार को राज्य में होने वाले 11 विधान परिषद सीटों के चुनाव से पहले अपने विधायकों को होटलों में ठहराया है। चुनाव में 11 सीटों के लिए 12 उम्मीदवार मैदान में हैं।

विधानसभा सदस्य दक्षिण मुंबई के विधान भवन परिसर में एकत्र होंगे जहां सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा। वोटों की गिनती शाम 5 बजे की जाएगी।

राज्य विधानमंडल के ऊपरी सदन के ग्यारह सदस्य 27 जुलाई को सेवानिवृत्त हो रहे हैं और रिक्तियों को भरने के लिए ये महत्वपूर्ण चुनाव हो रहे हैं।

राजनीतिक दल अपने विधायकों को एक साथ रखने के लिए चुनाव से पहले उनके लिए रात्रिभोज आयोजित कर रहे हैं और उन्हें होटलों में ठहरा रहे हैं।

राज्य में विधानसभा चुनाव से महज तीन महीने पहले विधान परिषद चुनाव हो रहे हैं।

महा विकास आघाड़ी (एमवीए) में शामिल कांग्रेस के नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय वडेट्टीवार ने अपनी पार्टी के विधायकों के लिए बृहस्पतिवार को शहर के एक होटल में रात्रिभोज बैठक आयोजित की।

कांग्रेस ने अपने विधायकों को व्हिप जारी कर पार्टी के निर्देश के मुताबिक वोट करने को कहा है। कांग्रेस विधायक दल के नेता बालासाहेब थोराट द्वारा जारी निर्देश के अनुसार, पार्टी के सभी विधायकों के लिए एमवीए उम्मीदवारों को वोट देना अनिवार्य है।

एमवीए में शामिल शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने बुधवार रात मध्य मुंबई के एक पांच-सितारा होटल में अपने विधायकों के साथ रात्रिभोज पर बातचीत की थी।

पार्टी के 11 विधायकों ने रात्रिभोज में भाग लिया और वे होटल में ही ठहरे। बृहस्पतिवार को बाकी चार विधायक भी उनके साथ शामिल हो गए। पार्टी के एक नेता ने यह जानकारी दी।

उप मुख्यमंत्री अजित पवार की अगुवाई वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी अपने विधायकों को हवाई अड्डे के पास एक पांच-सितारा होटल में ठहराया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली शिवसेना के विधायक बुधवार सुबह बैठक के लिए विधान भवन में जमा हुए और फिर बांद्रा के एक पांच-सितारा होटल में चले गए।

भाजपा विधायक दल की एक बैठक बुधवार रात को विधान भवन परिसर में हुई और पार्टी विधायक वहां से एक पांच-सितारा होटल चले गए।

एमवीए में शामिल राकांपा (एसपी) ने अपने विधायकों पर भरोसा जताया है और अन्य दलों की तरह उन्हें होटलों में नहीं भेजा है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)