ताजा खबरें | ममता का घुसपैठ पर नरम रुख, तुष्टीकरण की राजनीति कर रहीं : नड्डा का आरोप

रघुनाथपुर/विष्णुपुर, 15 मई भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर घुसपैठ के मुद्दे से समझौता करने और अल्पसंख्यकों के तुष्टीकरण का आरोप लगाया।

उन्होंने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस के करीब एक दशक के शासन में पश्चिम बंगाल से एक के बाद एक ‘कांड’ सामने आ रहे हैं।

पुरुलिया में पार्टी उम्मीदवार ज्योतिरमॉय महतो के समर्थन में आयोजित एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन के बिखरे हुए घटक अपनी स्वार्थ प्रेरित इच्छाओं की पूर्ति के लिए केंद्र में ‘मजबूर’ सरकार बनाना चाहते हैं, पश्चिम बंगाल की जनता ने पहले ही ‘मजबूत’ सरकार की अपनी मंशा व्यक्त कर दी है।

नड्डा ने ममता बनर्जी पर पश्चिम बंगाल को आतंकवादियों की पनाहगाह में तब्दील करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘ममता दीदी की सरकार घुसपैठ के मुद्दे पर नरम है जबकि अल्पसंख्यकों की तुष्टीकरण की नीति पर चल रही है।’’

तृणमूल कांग्रेस पर लगे कथित भ्रष्टाचार के आरोपों के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘शिक्षक भर्ती से लेकर लिपिक नियुक्ति धोखाधड़ी तक, कोयला से मवेशी तस्करी तक एक के बाद एक घोटाले हो रहे हैं। उनकी पार्टी के नेता और मंत्री विभिन्न घोटालों में गिरफ्तार हुए हैं। ममता दीदी का शासनकाल भ्रष्टाचार और आतंक का पर्याय बन गया है।’’

नड्डा ने कहा कि ममता बनर्जी के शासनकाल में संदेशखालि जैसी घटनाएं हुईं जो पूरे देश को शर्मिंदा करने वाली थीं। उन्होंने जनसभा में मौजूद लोगों से सवाल करते हुए कहा, ‘‘दुर्भाग्य से वह संदेशखालि में महिलाओं का उत्पीड़न करने वालों को बचाने की कोशिश कर रही हैं। क्या बंगाल की जनता इस तरह का शासक चाहती है? ’’

भाजपा उम्मीदवार सौमित्र खान के समर्थन में विष्णुपुर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा, ‘‘शाहजहां शेख जैसे तृणमूल कांग्रेस नेताओं के घरों से बम और हथियारों की बरामदगी दिखाती है कि ममता बनर्जी की छत्रछाया में कैसे चीजें होती हैं और वह एक शब्द तक नहीं कहतीं।’’

उन्होंने कहा कि राज्य में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के तहत छह करोड़ लोगों को पांच किलोग्राम चावल और एक किलोग्राम दाल मिल रहा है और ममता बनर्जी की सरकार को ‘चावल चोर’ का उपनाम मिला है।

नड्डा ने कहा, ‘‘चावल भेजे मोदी, चोरी करे दीदी।’’ उन्होंने पीडीएस घोटाले से जुड़े मामले में पश्चिम बंगाल के मंत्री ज्योतिप्रिय मलिक की गिरफ्तारी को याद किया।

नड्डा ने तृणमूल कांग्रेस सरकार पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिली राशि का गबन करने और स्कीम का नाम बदलकर ‘बंगाल आवास योजना’ करने का आरोप लगाया। उन्होंने दावा किया कि तृणमूल द्वारा सामाजिक कल्याण की परियोजनाओं को पटरी से उतारने की कोशिश किए जाने के बाद भी मोदी सरकार ने गरीबों के लिए 52 लाख घर बनाए हैं।

केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए एक समुदाय को दूसरे के सामने खड़ा किया।’’

भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष राज्य के किसानों को गत तीन साल से ‘किसान निधि’ का लाभ लेने से रोक रही हैं और कई सालों से लोगों को ‘आयुष्मान भारत’ का लाभ लेने से वंचित कर रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी ने धर्म आधारित राजनीति और तुष्टीकरण के युग का समापन किया है और नए तरीके के शासन पर सूत्रपात किया है जो प्रदर्शन एवं जवाबदेही पर आधारित है।’’

नड्डा ने कहा कि अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और चीन की अर्थव्यवस्था ढलान पर है जबकि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत ऊंचाई पर जा रहा है और दुनिया की शीर्ष पांच अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो गया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)