देश की खबरें | महाराष्ट्र ने केन्द्र से की ऑक्सीजन कोटा बढ़ाए जाने की मांग

मुंबई, चार मई कोविड-19 महामारी से गंभीर रूप से जूझ रहे महाराष्ट्र ने ऑक्सीजन की बढ़ती हुई मांग का हवाला देते हुए केन्द्र सरकार से तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन (एलएमओ) का कोटा बढ़ाए जाने की मांग की है।

महाराष्ट्र सरकार ने केन्द्र से अपील की है कि उसका एलएमओ कोटा कम से कम 200 मीट्रिक टन बढ़ाया जाए ताकि राज्य में ऑक्सीजन की मांग के अनुरूप आपूर्ति हो सके।

महाराष्ट्र के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने इस संबंध में केन्द्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौबा को तीन मई को पत्र लिखकर ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाए जाने के लिये 10 एलएमओ टैंकरों की भी मांग की है।

महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि गुजरात के जामनगर से इस समय 125 मीट्रिक टन और भिलाई से 130 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्रतिदिन आ रहा है जिसे बढ़ाकर क्रमश: 225 और 230 मीट्रिक टन किया जाना चाहिए।

कुंटे ने कहा, ‘‘जामनगर और भिलाई भौगोलिक रूप से काफी नजदीक हैं, इसलिए यहां से आ रहे ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाया जाना चाहिए ताकि ऑक्सीजन टैंकरों पर निर्भरता को कम किया जा सके। इससे हमें दैनिक मांग के अनुरूप ऑक्सीजन मिलेगा और उसका बेहतर प्रबंधन भी आसान हो जायेगा।’’

महाराष्ट्र के मुख्य सचिव ने बताया कि इस समय राज्य में कोरोना वायरस के 6,63,758 उपचाराधीन मरीज हैं, जिसमें से 78,884 रोगी ऑक्सीजन पर हैं जबकि 24,787 मरीज आईसीयू में भर्ती हैं।

कुंटे ने कहा कि पालघर, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सतारा, सांगली, कोल्हापुर, सोलापुर, नंदुरबार, बीड, परभणी, हिंगोली, अमरावती, बुलढाणा, वर्धा, गढ़चिरौली और चंद्रपुर समेत 16 जिलों में कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है जिसके कारण ऑक्सीजन की मांग काफी बढ़ गयी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)