देश की खबरें | केरल: विजयन की बेटी से संबंधित कंपनी की जांच के मामले में अदालत ने केएसआईडीसी से दस्तावेज मांगे

कोच्चि, सात फरवरी केरल उच्च न्यायालय ने सोमवार को सरकार द्वारा संचालित केएसआईडीसी से यह साबित करने के लिए दस्तावेज उपलब्ध कराने को कहा कि उसने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की बेटी वीणा और अन्य की आईटी कंपनी से किए गए कथित वित्तीय लेनदेन को लेकर कोचीन मिनरल्स एंड रूटाइल लिमिटेड से स्पष्टीकरण मांगा था।

अदालत केरल राज्य औद्योगिक विकास निगम (केएसआईडीसी) की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें कंपनी अधिनियम के तहत एसएफआईओ द्वारा उसके मामलों की जांच का निर्देश देने संबंधी केंद्र सरकार के आदेश को रद्द करने की मांग की गई थी।

गंभीर धोखाधड़ी अन्वेषण कार्यालय (एसएफआईओ) केएसआईडीसी, आईटी कंपनी ‘एक्सालॉजिक’ और कोच्चि स्थित खदान कंपनी ‘सीएमआरएल’ से संबंधित मामले की जांच कर रहा है।

केएसआईडीसी ने सोमवार को उच्च न्यायालय के समक्ष कहा कि मामले में उल्लिखित किसी भी कथित लेनदेन में उसकी कोई भूमिका नहीं है। केएसआईडीसी ने जांच से छूट देने का अनुरोध किया।

केएसआईडीसी ने अदालत के समक्ष यह भी कहा कि उसने मामले के संबंध में सीएमआरएल से स्पष्टीकरण मांगा था।

याचिका पर सुनवाई करने वाले न्यायमूर्ति देवन रामचंद्रन ने केएसआईडीसी से यह साबित करने के लिए दस्तावेज उपलब्ध कराने को कहा कि उसने कोचीन मिनरल्स एंड रूटाइल लिमिटेड (सीएमआरएल) से स्पष्टीकरण मांगा था।

केएसआईडीसी के पास सीएमआरएल में 13.4 फीसदी हिस्सेदारी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)