ताजा खबरें | केरल के मुख्यमंत्री ने चुनाव से पहले किये गये सर्वेक्षणों की तुलना ‘पेड न्यूज’ से की

मलप्पुरम (केरल), 18 अप्रैल केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बृहस्पतिवार को विभिन्न मीडिया संस्थानों द्वारा चुनाव से पहले किये गये सर्वेक्षणों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि ये सर्वेक्षण ‘पेड न्यूज’ की तरह हैं।

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता विभिन्न मीडिया संस्थानों द्वारा चुनाव से पहले किये गए उन सर्वेक्षणों के बारे में एक सवाल का जवाब दे रहे थे, जिनमें कांग्रेस नीत (यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट) यूडीएफ को अधिक सीटें मिलने की संभावना जताई गई है।

विजयन से यहां संवाददाताओं से कहा कि जिस तरह कुछ समाचारों को उनकी विश्वसनीयता के अभाव या पक्षपाती प्रवृत्ति के कारण ‘पेड न्यूज’ कहा जाता है, उसी तरह कुछ सर्वेक्षण सामने आए हैं जो इसी तरह के हैं।

2021 के विधानसभा चुनावों के परिणामों का हवाला देते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे में लोग यही सवाल कर रहे हैं कि क्या मौजूदा सर्वेक्षण ‘पेड न्यूज’ के समान हैं। 2021 के विधानसभा चुनाव में लोगों ने विभिन्न मीडिया संस्थानों द्वारा किए गए सर्वेक्षणों को खारिज करते हुए लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) के पक्ष में मतदान किया था।

मुख्यमंत्री ने मीडिया पर आरोप लगाया कि वह इस तरह के निष्कर्षों के पीछे के वैज्ञानिक विश्लेषण का खुलासा नहीं कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा, ''चुनाव से पहले किये गये सर्वेक्षण के नतीजे तो जारी कर दिए गए लेकिन यह नहीं बताया गया कि सर्वेक्षण आयोजित करने की विधि क्या थी, जानकारी एकत्र करने में कितने लोग शामिल थे और परिणाम का अनुमान किस आधार पर लगाया गया। लोगों को इनकी प्रामाणिकता के बारे में पता ही नहीं है। कुछ एजेंसियों द्वारा समर्थित इन आंकड़ों का उद्देश्य केवल लोगों को गुमराह करना है।''

विजयन ने कहा कि जिस तरह पिछले चुनाव में लोगों ने सर्वेक्षणों को खारिज कर एलडीएफ के लिए मतदान किया था ‘‘उसी तरह इस बार भी वह हमारे गठबंधन के साथ खड़े रहेंगे। ’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)