जरुरी जानकारी | ब्रिटेन में इन्फोसिस-एमफेसिस करेंगी दो हजार नियुक्तियां, विप्रो करेगी 1.6 करोड़ पौंड का निवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के बीच ‘ऑनलाइन’ शिखर बैठक से पहले इन कंपनियों ने ये घोषणाएं क।

इन्फोसिस ने एक बयान में कहा कि ब्रिटेन में दुनिया की कुछ बड़ी कंपनियों को डिजिटल क्षेत्र में सेवाएं देने के लिये एक हजार नियुक्तियां क्लाउड, कंप्यूटिंग, डेटा और एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ओपन सोर्स टेक्नोलॉजी और एंटरप्राइज सेवाओं में की जाएंगी।

उसने कह कि इन नियुक्तियों में ब्रिटेन के अग्रणी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से हाल में स्नातक करने वाले छात्रों को विशेष रूप से नौकरियां दी जाएंगी।

इंफोसिस के मुख्य कार्यपालक अध्यक्ष सलील पारेख ने कहा, ‘‘पिछले वर्ष की घटनाओं ने डिजिटल कौशल की आवश्यकता को बढ़ा दिया है क्योंकि कंपनियों ने तेजी से अपने डिजिटल परिवर्तन को गति दी है। डिजिटल फासले को भरना और गुणवत्तापूर्ण डिजिटल शिक्षा को हर नागरिक के लिए सुलभ बनाना मजबूत भविष्य के कर्मचारियों की स्थापना और ब्रिटेन की आर्थिक पुनरूद्धार के लिए महत्वपूर्ण हैं।’’

बेंगलुरु स्थित आईटी समाधान कंपनी एमफेसिस भी ब्रिटेन में अपने पैर पसारने के लिये बैंकिंग और बीमा क्षेत्र पर विशेष ध्यान देते हुए लंदन के बाहर एक केंद्र स्थापित करेगी। इसके लिए लिए वह ढाई करोड़ पौंड का निवेश करेगी। एमफेसिस को उम्मीद है कि इस निवेश से शुरुआत में करीब एक हजार लोगों को नौकरी मिलेगी।

एमफेसिस के मुख्य कार्यपालक अध्यक्ष और कार्यकारी निदेशक नितिन राकेश ने कहा, ‘‘मुझे बहुत खुशी है कि कंपनी ने ब्रिटेन में निवेश करने वाली दिग्गज भारतीय कंपनियों में शामिल होने का निर्णय किया है। यह कदम हमारे तकनीकी क्षेत्र और आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा। मैं भविष्य में ब्रिटेन में हमारी उपस्थिति को बढ़ाने को लेकर उत्साहित हूं।’’

सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी विप्रो ने भी इस दौरान लंदन के होलबोर्न में नवाचार केंद्र स्थापित करने की घोषणा की है। विप्रो इस केंद्र के लिए अगले चार वर्षों के दौरान 1.6 करोड़ पौंड खर्च करेगी।

यह नवाचार केंद्र 20,000 वर्ग फुट में फैला होगा जो ब्रिटेन में विप्रो के प्रमुख केंद्र के रूप में काम करेगा और साथ ही ब्रिटेन समेत वैश्विक स्तर पर कंपनियों को प्रौद्योगिकी विशेषज्ञता प्रदान करेगा। विप्रो केंद्र ग्राहकों को उच्च डिजिटल, साइबर सुरक्षा और क्लाउड विशेषज्ञता प्रदान करने के लिए अभिन्न होगा तथा यह ब्रिटेन में चार हजार से अधिक लोगों को रोजगार भी देगा।

विप्रो ने एक बयान में कहा कि उसने पिछले 12 महीनों के दौरान ब्रिटेन में 500 नयी भर्तियां की है। नवाचार केंद्र की घोषणा से उसे उम्मीद है कि आने वर्षों में प्रतिभा का आधार बढ़ेगा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)