जरुरी जानकारी | मुक्त व्यापार समझौतों का बढ़ना वित्तीय सेवा निर्यात के लिए अहम रणनीतिः सचिव

नयी दिल्ली, 15 मई वित्तीय सेवा सचिव विवेक जोशी ने बुधवार को कहा कि मुक्त व्यापार समझौतों (एफटीए) में बढ़ोतरी देश के वित्तीय सेवा निर्यात को बढ़ाने के लिए एक अहम रणनीति होगी।

जोशी ने यहां एफटीए में वित्तीय सेवाओं के विषय पर आयोजित एक कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए भारत की निर्यात रणनीति में वित्तीय सेवाओं की अहम भूमिका पर प्रकाश डाला।

इस कार्यशाला में एफटीए की जटिल गतिशीलता और नए दौर के मुक्त व्यापार समझौतों में वित्तीय सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा के लिए सरकारी निकायों और शिक्षा जगत के प्रमुख हितधारक इकट्ठा हुए।

कार्यशाला के सह-आयोजक भारतीय निर्यात-आयात बैंक (एक्जिम बैंक) ने बयान में कहा कि वैश्विक स्तर पर वित्तीय सेवाओं की बढ़ती मांग को भुनाने की भारत में महत्वपूर्ण क्षमता है। खासकर गिफ्ट सिटी के वित्तीय सेवाओं के प्रमुख केंद्र के रूप में उभरने से इसका विस्तार हुआ है।

एक्ज़िम बैंक की प्रबंध निदेशक हर्षा बंगारी ने कहा, ‘‘वित्त वर्ष 2022-23 में वित्तीय सेवाओं का निर्यात 7.8 अरब डॉलर तक पहुंच गया और 2018-19 से 2022-23 के दौरान 12.6 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2023-24 की पहली तीन तिमाहियों में भी बढ़त का रुझान जारी रहा और वित्तीय सेवाओं का निर्यात 12.7 प्रतिशत बढ़कर 6.5 अरब डॉलर हो गया।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)