देश की खबरें | यदि हिंदू सहिष्णु नहीं होते, तो राम मंदिर निर्माण के लिए 500 साल इंतजार नहीं करना पड़ता : खट्टर

रायपुर, 10 जुलाई केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को विपक्षी नेता राहुल गांधी की हिंदुओं पर की गई हालिया टिप्पणियों की आलोचना करते हुए कहा कि यदि हिंदू सहिष्णु नहीं होते तो श्री राम मंदिर बनने में पांच सौ वर्ष नहीं लगते।

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए खट्टर ने कांग्रेस पार्टी पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डर से झूठ फैलाने का आरोप लगाया।

खट्टर ने कहा, "जब लोकसभा चुनावों के दौरान किसी ने कांग्रेस के झूठ पर ध्यान नहीं दिया, तब उन्होंने भगवान राम और हिंदुओं को बदनाम करना शुरू कर दिया।"

उन्होंने कहा कि हिंदू वैश्विक स्तर पर सबसे सहिष्णु लोगों में से हैं, जबकि राहुल गांधी का दावा है कि हिंदू हिंसक हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, "अगर हिंदू सहिष्णु नहीं होते, तो भगवान राम का मंदिर (अयोध्या में) बनने में पांच सौ साल नहीं लगते।"

उन्होंने कहा , ''हमने धारा 370 हटाने की प्रक्रिया भी शांतिपूर्ण निपटाई है। कांग्रेस शासन काल में होने वाले जातीय और सांप्रदायिक दंगे भाजपा शासन काल में बंद हो गए हैं।''

खट्टर ने कांग्रेस पर जनता को गुमराह करने और नव-निर्वाचित राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) सरकार को "अल्पमत सरकार" के रूप में गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने 99 लोकसभा सीट जीती हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पिछले दो चुनावों (2014 और 2019) में लोकसभा में विपक्षी दल का दर्जा हासिल करने में विफल रही, लेकिन 99 सीट जीतना ही अपनी जीत मान रही है।

खट्टर ने हाल ही में चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में राजग की सफलता और 13 राज्यों में कांग्रेस के सांसदों की अनुपस्थिति को कांग्रेस के पतन का सबूत बताया।

केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर छत्तीसगढ़ में (2018 विधानसभा चुनाव से पहले) शराबबंदी और कृषि ऋण माफी समेत कई वादों को पूरा नहीं करने तथा संविधान और आरक्षण को लेकर भाजपा के बारे में झूठ फैलाने का भी आरोप लगाया।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "जब ये झूठ काम नहीं आए, तब कांग्रेस अब हिंदुओं को हिंसक कह रही है।"

खट्टर ने कहा, "विपक्ष जानता है कि जाति और सांप्रदायिक उन्माद फैलाकर उनका एजेंडा और तुष्टीकरण की राजनीति तब तक काम नहीं करेगी, जब तक भाजपा और मोदी सत्ता में हैं।"

उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से छत्तीसगढ़ में भाजपा की जन कल्याणकारी योजनाओं के लाभों के बारे में लोगों के घर-घर जाकर उन्हें बताने और 2047 तक विकसित भारत के प्रधानमंत्री के लक्ष्य में योगदान देने का आग्रह किया।

बैठक में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जम्वाल, भाजपा की प्रदेश इकाई अध्यक्ष किरण देव और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)