विदेश की खबरें | अपने सहयोगी देश ईरान जा रहे जहाज पर हुती विद्रोहियों ने मिसाइल दागी
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

मार्शल द्वीप के ध्वज वाले एवं यूनान संचालित मालवाहक जहाज स्टार आइरिश पर किया गया हमला यह प्रदर्शित करता है कि हुती विद्रोही लाल सागर, अदन की खाड़ी और बाब अल-मंडेब जलडमरूमध्य से गुजरने वाले जहाजों को किस कदर निशाना बना सकते हैं।

स्टार आइरिश ब्राजील से ईरान के बंदर खोमैनी बंदरगाह जा रहा था। जबकि ईरान, यमन के वर्षों लंबे युद्ध में हुतियों का मुख्य समर्थक और हथियार आपूर्तिकर्ता है।

हुतियों ने स्टार आइरिश को अमेरिकी जहाज समझकर उस पर हमला किया। हुती विद्रोहियों ने कहा कि उन्होंने कई मिसाइल से जहाज को निशाना बनाया।

हुती सैन्य प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल याहया सारी ने हमले के बाद एक आधिकारिक बयान में कहा कि हुती विद्रोही गाजा पट्टी में यहूदी अपराधों का जवाब देने के लिए और अधिक अभियान चलाने से नहीं हिचकेंगे।

ब्रिटिश सेना के ‘यूनाइटेड किंगडम ट्रेड ऑपरेशन्स सेंटर’ (यूकेटीएमओ) ने एक बयान में कहा कि यह हमला उस वक्त हुआ जब स्टार आइरिश बाब-अल मंडेब जलडमरुमध्य से गुजर रहा था, जो पूर्वी अफ्रीका और अरब प्रायद्वीप को अलग करता है।

यूकेटीएमओ ने कहा, ‘‘जहाज के कैप्टन ने सूचना दी कि उसके जहाज पर दो मिसाइल दागी गई और इससे मामूली नुकसान हुआ है। जहाज और चालक दल सुरक्षित है।’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)