देश की खबरें | हलदाना व दातासिंह वाला बॉर्डर पर सुरक्षा के भारी इंतजाम

सोनीपत/जींद, 12 फरवरी दिल्ली में 13 फरवरी को किसानों के प्रस्तावित प्रदर्शन के मद्देनजर कृषकों को हरियाणा व पंजाब से राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने से रोकने के लिए सोनीपत को पानीपत से जोड़ने वाले हलदाना बॉर्डर और जींद जिले में पंजाब से लगने वाले दातासिंह वाला बॉर्डर पर सुरक्षा के भारी इंतजाम किए गए हैं। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यहां बताया कि सोनीपत को दिल्ली से जोड़ने वाली अन्य छह सड़कों पर मार्ग परिवर्तन किया गया है।

उन्होंने बताया कि किसानों के दिल्ली कूच की घोषणा के बाद जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू की गई है। जिले के पुलिस आयुक्त बी सतीश बालन के नेतृत्व में पुलिस-प्रशासन की टीम ने हलदाना बॉर्डर पर निरीक्षण किया और बॉर्डर पर किसानों रोकने के लिए पुलिस ने तीन स्तर की बैरिकेडिंग की तैयारी शुरू कर दी है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि हलदाना बॉर्डर पर लगाने के लिए लोहे के बेरिकेड व पत्थर मंगवाए गए हैं तथा किसान अंबाला बॉर्डर से आगे बढ़े तो यहां उन्हें रोकने के लिए तीन स्तर की बेरिकेडिंग की जाएगी।

वहीं सोनीपत के उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने 12 और 13 फरवरी को खुले में डीजल-पेट्रोल की बिक्री पर रोक लगा दी है। उन्होंने कहा कि इसी के साथ ट्रैक्टर में दस लीटर से अधिक डीजल देने पर भी रोक लगा दी गयी है।

पुलिस आयुक्त बालन ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि कानून तोड़ने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने जिले भर में ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात किए हैं तथा सोनीपत, राठधाना, हरसाना कलां, सांदल कलां, राजलू गढ़ी व गन्नौर स्थित रेलवे स्टेशन क्षेत्र में हरियाणा राज्य परिवहन विभाग, सोनीपत के यातायात प्रबंधक संजय कुमार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। इसके अलावा गोहाना व मुंडलाना रेलवे स्टेशन क्षेत्र में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के उपमंडल अधिकारी सर्वजीत सिंह को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।

वहीं, पंजाब जाने वाली बसों का परिचालन रोक दिया गया है। रोडवेज के महाप्रबंधक राहुल जैन ने बताया कि रोडवेज ने स्थिति सामान्य होने तक पंजाब रूट बंद करने का निर्णय लिया है। हालांकि डिपो से चंडीगढ़ रूट पर बस चलेगी।

वहीं, जींद में पुलिस ने बताया कि पंजाब से दिल्ली कूच कर रहे किसानों को रोकने के लिए दातासिंह वाला बार्डर पर आधा किलोमीटर तक नरवाना-पटियाला मार्ग पर भारी भरकम बेरिकेडिंग की गई है और भारी संख्या में अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।

जिला पुलिस ने लोगों को फिलहाल पंजाब न जाने की सलाह दी है।

जींद पुलिस अधीक्षक (एसपी) सुमित कुमार ने कहा, “ बॉर्डर को सील किया गया है। सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पंजाब की तरफ यात्रा को कुछ समय के लिए टाल दें।”

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए कानूनी गारंटी के अलावा, किसान स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों व कृषि मजदूरों के लिए पेंशन, कृषि ऋण माफ करने, पुलिस में दर्ज मामलों को वापस लेने और लखीमपुरी खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए ‘‘न्याय’’ की मांग कर रहे हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)