विदेश की खबरें | फ्रांस ने न्यू कैलेडोनिया में आपातकाल लगाया
श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने

इस कदम के पीछे फ्रांस सरकार का मकसद इस प्रशांत क्षेत्र में जारी विरोध-प्रदर्शनों को काबू करने के लिए पुलिस को और अधिक शक्तियां प्रदान करना है। न्यू कैलेडोनिया में जारी हिंसक प्रदर्शन में अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है।

फ्रांस सरकार की प्रवक्ता प्रिस्का थेवेनोट ने बुधवार दोपहर को पेरिस में मंत्रिमंडल की बैठक के बाद आपातकाल लागू करने के फैसले की घोषणा की।

फ्रांसीसी मीडिया में आईं खबरों के अनुसार, सोमवार से 130 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं। न्यू कैलेडोनिया में मतदाता सूची के विस्तार के फ्रांस के प्रयासों के खिलाफ सोमवार को विरोध प्रदर्शन शुरू हुए थे।

न्यू कैलेडोनिया द्वीप समूह में स्वतंत्रता चाहने वाले मूल निवासी कनकों और फ्रांस का हिस्सा बने रहने के इच्छुक लोगों के बीच दशकों से तनाव रहा है।

फ्रांस के गृह मंत्रालय ने लंबे समय तक जेल के रूप में इस्तेमाल किए गए न्यू कैलेडोनिया में मंगलवार को पुलिस भेजी थी।

राजधानी नोमिया और इसके आसपास कर्फ्यू लागू होने व सभा पर प्रतिबंध के बावजूद पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें हुई हैं।

एपी

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)