देश की खबरें | जेईआई के पूर्व प्रवक्ता ने 2019 में जेल से भागने के प्रयास से जुड़े मामले में आत्मसमर्पण किया

श्रीनगर, 19 मई प्रतिबंधित संगठन जमात-ए-इस्लामी (जेईआई) के एक पूर्व प्रवक्ता ने 2019 में जेल से भागने की कोशिश करने के सिलसिले में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि अली मोहम्मद लोन उर्फ जाहिद अली ने श्रीनगर में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि आरोपी अली मोहम्मद लोन के आत्मसमर्पण करने के बाद, जेल से भागने के मामले में उसे 16 मई को गिरफ्तार किया गया।

उसके खिलाफ रणबीर दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत रैनवाड़ी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारी ने बताया कि आरोपी आगजनी, दंगा, जेल से भागने की कोशिश, राष्ट्र विरोधी नारेबाजी और 2019 में श्रीनगर केंद्रीय कारागार में पथराव करने में कथित तौर पर संलिप्त है।

लोन को पहली बार मार्च 2019 में गिरफ्तार किया गया था लेकिन उसकी एहतियाती हिरासत को अदालत ने उस साल जुलाई में रद्द कर दिया था।

हालांकि, उसे छह दिन के अंदर निवारक कानून के तहत फिर से हिरासत में ले लिया गया लेकिन इस आदेश को 2020 में अदालत ने निरस्त कर दिया। तीन महीनों के अंदर उसके खिलाफ निवारक कानूनों के तहत फिर से मामला दर्ज किया गया लेकिन हिरासत को फिर से अदालत ने 2021 में निरस्त कर दिया।

उसके खिलाफ 2021 में चौथी बार जन सुरक्षा कानून के तहत मामला दर्ज किया गया, जिसे अदालत ने पिछले महीने रद्द कर दिया था।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)