देश की खबरें | किसानों का कूच: दिल्ली पुलिस के प्रमुख ने टीकरी बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया

नयी दिल्ली, 13 फरवरी दिल्ली पुलिस के आयुक्त संजय अरोड़ा ने राष्ट्रीय राजधानी में किसानों के कूच के मद्देनजर की गई सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण करने के लिए मंगलवार को टीकरी सीमा का दौरा किया।

अरोड़ा के साथ विशेष आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) मधुप तिवारी और पुलिस उपायुक्त (बाहरी) जिमी चिरम भी मौजूद रहे।

अधिकारियों के अनुसार, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए टीकरी, सिंघू और गाजीपुर सीमा क्षेत्रों में पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 5,000 से अधिक जवानों को तैनात किया गया है।

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को पूरे शहर में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी और अपनी सीमाओं को पूरी तरह से सुरक्षित कर दिया।

सीमावर्ती क्षेत्रों की निगरानी के लिए ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों जैसे निगरानी उपकरणों का उपयोग किया जा रहा है।

कई किसान संघों ने फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने वाले कानून की मांग को लेकर 13 फरवरी को विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया था। किसानों के इस कूच में ज्यादार संघ उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से है।

एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी के अलावा, किसान कृषकों के कल्याण के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों और खेत मजदूरों के लिए पेंशन तथा कर्ज माफी समेत अन्य मांग कर रहे हैं।

किसान पुलिस मामलों को वापस लेने और लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए "न्याय", भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 को बहाल करने, विश्व व्यापार संगठन से हटने और पिछले आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों को मुआवजा देने की भी मांग कर रहे हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा ने घोषणा की है कि 200 से अधिक कृषि संघ दिल्ली तक कूच करेंगे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)