देश की खबरें | कर्नाटक के पूर्व मंत्री नागेंद्र और कांग्रेस विधायक दद्दाल से जुड़े ठिकानों पर ईडी के छापे

बेंगलुरु, 10 जुलाई प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अवैध धन हस्तांतरण मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री बी नागेंद्र और कांग्रेस विधायक बसनगौड़ा दद्दाल से संबद्ध अनके स्थानों पर बुधवार को छापे मारे। ईडी के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

सूत्रों ने बताया कि ये छापे बेंगलुरु, रायचूर और बेल्लारी में मारे गए और मामला कर्नाटक महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित जनजाति विकास निगम के बैंक खातों से 187 करोड़ रुपये के कथित अवैध हस्तांतरण से जुड़ा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इसमें कुछ आईटी कंपनियों के विभिन्न खातों और हैदराबाद के एक सहकारी बैंक में अवैध रूप से जमा किए गए 88.62 करोड़ रुपये शामिल हैं।

कांग्रेस विधायक बसनगौड़ा दद्दाल कर्नाटक महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित जनजाति विकास निगम के अध्यक्ष हैं। नागेंद्र ने आरोप लगने के बाद छह जून को अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

यह मामला उस वक्त सामने आया जब महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित जनजाति विकास निगम के लेखा अधीक्षक चंद्रशेखरन पी ने 26 मई को आत्महत्या की।

चंद्रशेखरन ने सुसाइड नोट में आरोप लगाया कि निगम के 187 करोड़ रुपये अवैध तरीके से हस्तांतरित किए गए हैं।

इस पर कांग्रेस सरकार ने एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया, जिसने अब तक इस मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया है। एसआईटी ने मंगलवार को नागेंद्र और दद्दाल से पूछताछ की थी।

‘यूनियन बैंक ऑफ इंडिया’ ने भी धन के अवैध हस्तांतरण के संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद सीबीआई भी मामले की जांच कर रही है।

ईडी के अधिकारियों ने बेंगलुरु में तीन स्थानों पर छापे मारे। सूत्रों ने बताया कि ईडी ने हैदराबाद में भी कुछ स्थानों पर छापे मारे हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)